Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Budget 2022: वित्त मंत्री का ऐलान- क्रिप्टो करेंसी में निवेश पर 30 फीसदी की दर से टैक्स लगेगा, टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं- पढ़ें पूरा अपडेट

Budget 2022:वित्त मंत्री निर्मला सीतारण ने कहा कि किस क्षेत्र में कब कौन सी फसल बोई जाए, इसका आकलन करने के लिए किसान ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा। लैंड रिकॉर्ड्स के डिजिटाइजेशन की योजना पर जोर दिया जाएगा। गेंहू और धान की खरीद के लिए 2.37 लाख करोड़ रुपये की एमएसपी तय की गई है।

Budget 2022: वित्त मंत्री का ऐलान- क्रिप्टो करेंसी में निवेश पर 30 फीसदी की दर से टैक्स लगेगा, टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं- पढ़ें पूरा अपडेट
X

Budget 2022 Live / Union Budget 2022: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने कैबिनेट की मंजूरी के बाद संसद में अपना चौथा बजट पेश किया। वित्त मंत्री ने इस बजट में युवाओं को 16 लाख नौकरियां देने का वादा किया गया है। सरकारी कर्मियों के एनपीएस पर टैक्स छूट का दायरा बढ़ाने का ऐलान किया है। साथ ही कहा है कि अगले तीन सालों में 400 नई वंदेभारत ट्रेनें तैयार की जाएंगी। इसके अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में मिडिल क्लास और सैलरीड क्लास को बड़ा झटका दिया है। उम्मीद जताई जा रही थी कि इसबार बजट में सरकार आयकर टैक्स स्लैब में बदलाव कर सकती है। लेकिन इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किये ये बड़े ऐलान, पढ़ें पूरा बजट भाषण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में अपने बजट भाषण की शुरुआत कोरोना वायरस महामारी के दुष्प्रभावों का जिक्र करते हुए की। वित्त मंत्री ने कहा है कि कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का असर कम है, लेकिन इससे भी आर्थिक गतिविधियों में थोड़ी बाधा तो जरूर हुई है। वित्त मंत्री सीतारमण ने बजट भाषण के दौरान कहा कि भारत को अगले 25 वर्ष की बुनियाद मिलेगी। अगले वित्त वर्ष में आर्थिक ग्रोथ 9.2 प्रतिशत रहने की उम्मीद जताई गई है। मौजूदा वर्ष में भारत की आर्थिक ग्रोथ 9.2 प्रतिशत रहने का अनुमान है, ये बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे ज़्यादा है।

जल्द आएगा LIC का आईपीओ, 30 लाख अतिरिक्त नौकरियां देने की क्षमता, 400 नई वंदेभारत ट्रेनें तैयार की जाएंगी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि एयर इंडिया का विनिवेश पूरा हो गया है। और एलआईसी का आईपीओ अब जल्द ही आएगा। जिसमें 30 लाख अतिरिक्त नौकरियां देने की क्षमता है। वित्त मंत्री ने कहा है कि इस आम बजट से किसान, युवाओं को फायदा मिलेगा। आत्मनिर्भर भारत से 16 लाख युवाओं को नौकरियां दी जाएंगी। अगले तीन सालों में 400 नई वंदेभारत ट्रेनें तैयार की जाएंगी। इसके साथ अगले तीन सालों में 100 पीएम गति शक्ति कार्गो टर्मिनल तैयार किए जाएंगे। और 8 नई रोपवे का निर्माण भी किया जाएगा।

नेशनल हाईवे की लंबाई को 25,000 किलोमीटर तक बढ़ाई जाएगी

वित्त मंत्री ने आगे कहा कि 2022-23 के बीच नेशनल हाईवे की लंबाई को 25,000 किलोमीटर तक बढ़ाया जाएगा। वहीं पहाड़ी इलाकों के पर्वतमाला रोड को पीपीपी मोड्स पर लाया जाएगा।

सिलेबस मे फॉर्मिंग कोर्स जुड़ेगा, आर्गेनिक खेती को मिल सकेगा बढ़ावा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि किसानी से जुड़े कोर्स सिलेबस में जुड़ेंगे। इसके लिए राज्यों सरकारों को प्रोत्साहित किया जाएगा कि वे अपने सिलेबस मे फॉर्मिंग कोर्स को जरूर जोड़ें। गंगा कॉरिडोर के नजदीक नेचुरल फॉर्मिंग को बढ़ावा दिया जाएगा। वहीं छोटे उद्योग एमएसएमई को क्रेडिट गारंटी स्कीम से मदद दी जाएगी। जिससे आर्गेनिक खेती को बढ़ावा मिलेगा।

डिजिटल विश्वविद्यालय की स्थापना होगी और 80 लाख मकान बनाए जाएंगे

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कहा कि कोरोना वायरस महामारी में पढ़ाई का बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। अब डिजिटल विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी। वहीं एक क्लास एक टीवी चैनल को 12 से बढ़ाकर 200 टीवी चैनल किया जाएगा। मानसिक समस्याओं के लिए नेशनल टेलीमेंटल हेल्थ प्रोग्राम भी शुरू किया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 और 2023 में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 80 लाख मकान बनाए जाएंगे। इनके लिए 48 हजार करोड़ का फंड रखा गया है।

Northeast India के विकास के लिए नई योजना

वित्त मंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर के राज्यों के लिए नई योजना पीएम पूर्वोत्तर विकास योजना के नाम से लॉन्च होगी। यह राज्यों में लागू अभी किसी भी योजना का विकल्प नहीं होगी। इसके तहत पूर्वोत्तर के 7 राज्यों में विकास कार्यों को गति दी जाएगी।

वित्त मंत्री ने बातई पीएम गति शक्ति

वित्त मंत्री ने कहा कि पीएम गति शक्ति के सात इंजन- रोड, रेलवे, एयरपोर्ट, बंदरगाह, मास ट्रांसपोर्टेशन, वाटरवे, लॉजिस्टिक इन्फ्रास्ट्रक्चर। इन आधार स्तंभों पर देश की रफ्तार तेजी की जाएगी।

गेंहू और धान की खरीद के लिए 2.37 लाख रुपये की एमएसपी तय की गई

वित्त मंत्री निर्मला सीतारण ने कहा कि किस क्षेत्र में कब कौन सी फसल बोई जाए, इसका आकलन करने के लिए किसान ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा। लैंड रिकॉर्ड्स के डिजिटाइजेशन की योजना पर जोर दिया जाएगा। गेंहू और धान की खरीद के लिए 2.37 लाख करोड़ रुपये की एमएसपी तय की गई है।

घर नल योजना से 5.5 करोड़ घरों को जोड़ा जाएगा

वित्त मंत्रा ने कहा कि हर घर नल योजना से 5.5 करोड़ घरों को जोड़ा जाएगा। हर घर नल जल योजना के लिए 60 हजार करोड़ रुपये फंड रखा गया है।

आजादी के अमृत काल का ब्लू प्रिंट है ये बजट

वित्त मंत्री ने कहा कि ये बजट अमृत काल के अगले 25 सालों का ब्लू प्रिंट है। मोदी सरकार ने आजादी के 100 सालों को अमृत काल की संज्ञा दी है।

किसानों की जमीन पर फोकस

वित्त मंत्री ने कहा कि गंगा नदी के किनारे 5 किलोमीटर चौड़े गलियारों में किसानों की जमीन पर फोकस के साथ पूरे देश में रासायनिक मुक्त प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा।

इन्हें दिया गया नया रूप

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि केंद्र सरकार ने लाभ प्रदान करने के लिए महिला और बाल विकास मंत्रालय की मिशन शक्ति, मिशन वात्सल्य, सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 जैसी योजनाओं को व्यापक रूप से नया रूप दिया है।

आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना 2023 तक बढ़ेगी

आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ECLGC) को मार्च 2023 तक बढ़ाया जाएगा। गारंटी कवर को 50 हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर कुल 5 लाख करोड़ रुपये किया जाएगा।

E-Passport होगा जारी

वित्त मंत्री ने कहा कि नागरिकों की सुविधा के लिए 2022-23 में ई-पासपोर्ट (E-Passport) जारी किया जाएगा। अब तक लोगों को पासपोर्ट की समस्या से जूझना पड़ता रहता है। लेकिन अब ये आसान हो जाएगा।

रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत पर जोर

वित्त मंत्री ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा दिया जाएगा। कुल खरीदी बजट में से 68 प्रतिश को घरेलू बाजार से खरीदी पर खर्च किया जाएगा। इससे रक्षा उपकरणों के आयात पर निर्भता कम होगी। बता दें कि पिछले वित्त वर्ष से ये 58 प्रतिशत अधिक है। रक्षा क्षेत्र में अनुसंधान के क्षेत्र में स्टार्टअप्स को मौका दिया जाएगा। प्राइवेट उद्योंगो को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। रक्षा क्षेत्र के बजट में 25 प्रतिशत हिस्सा रिसर्च पर खर्च किया जाएगा।

बढ़ती शहरी आबादी की सुविधा पर जोर दिया जाएगा

वित्त मंत्री ने कहा कि बढ़ती शहरी आबादी की सुविधा पर जोर दिया जाएगा। 1947 में आजादी के 100 साल पूरे हो जाएंगे। देश की आबादी शहरों में निवास करेगी। इसके लिए जरूरी क्षमता विस्तार में राज्यों को मदद की जाएगी। शहरों में सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल पर जोर दिया जाएगा। जीरो फॉसिल ईंधन वाले विशेष जोन बनेंगे। शहरी इलाकों में जगह की कमी के मद्देनजर योजनाएं बनेंगी।

इसी साल लाई जाएगी डिजिटल करेंसी, क्रिप्टो करेंसी में निवेश पर 30 फीसदी की दर से टैक्स लगेगा

वित्त मंत्री ने भारत में रेग्युलेटेड डिजिटल करेंसी लाने का भी ऐलान किया है। बिटकॉइन जैसी डिजिटल करेंसी में जोखिम वाले निवेश की जगह नए सुरक्षित निवेश का विकल्प पेश किया जा रहा है। वित्त मंत्री ने कहा इसी साल डिजिटल करेंसी लाई जाएगी। रिजर्व बैंक इसी वित्त वर्ष में डिजिटल रूपी करेंसी लॉन्च करेगा। वित्त मंत्री ने कहा, 'ब्लॉकचेन और अन्य तकनीकों का इस्तेमाल करके डिजिटल करेंसी शुरू की जाएगी। क्रिप्टो करेंसी में निवेश पर 30 फीसदी की दर से टैक्स लगेगा।

इसी वित्त वर्ष से 5जी सर्विस शुरू हो जाएगी

निर्मला सीतारमण ने कहा कि 5जी की लॉन्चिंग के लिए स्कीम लाई जाएगी। इसके तहत सभी गांवों और लोगों तक इंटरनेट की पहुंच होगी। इसी वित्त वर्ष से 5जी सर्विस शुरू हो जाएगी।

वित्तीय घाटे का लक्ष्य 6.4 फीसदी रखा

वित्त मंत्री ने कहा कि वित्तीय घाटे को वित्त वर्ष 2025-26 तक 4.5 प्रतिशत के नीचे लाने का टारगेट पूरा करने के लिए सभी प्रभावी कदम उठाए जाएंगे। वित्त वर्ष 2022-23 के लिए वित्तीय घाटे को 6.4 प्रतिशत तक रोकने का लक्ष्य। वित्त वर्ष 2023 में कुल खर्च 39.45 लाख करोड़ रुपये जबकि उधारी के सिवा कुल आमदनी 22.84 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान।

कॉर्पोरेट टैक्स दरों में कटौती की गई

वित्त मंत्री ने कॉर्पोरेट टैक्स दरों में कटौती करने का ऐलान किया है। उन्होंने को-ऑपरेटिव सोसाइटी के लिए 18 फीसदी की टैक्स दर को घटाकर 15 फीसदी करने की घोषणा और सरचार्ज को 12 फीसदी से घटाकर 7 फीसदी करने का प्रस्ताव है। वित्त मंत्री ने साथ ही इनकम बेस को भी 1 करोड़ की जगह 10 करोड़ किए जाने का ऐलान किया है।

75 जिलों में 75 बैंकिंग यूनिट का ऐलान

वित्त मंत्री ने 75 जिलों में 75 बैंकिंग यूनिट का ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि पोस्ट ऑफिस एकाउंट के माध्यम से किसानों को सुविधा मुहैया कराई गई हैं। हमारी सरकार की कोशिश है कि डिजिटल बैंकिंग की सुविधा को देश के सभी इलाके में सही तरीके से पहुंचाए जा सके। पोस्ट ऑफिस में भी अब ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर हो सकेगा।

टैक्स स्लैब में कोई बदलाब नहिं किया गया

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में मिडिल क्लास और सैलरीड क्लास को बड़ा झटका दिया है। उम्मीद जताई जा रही थी कि इसबार बजट में सरकार आयकर टैक्स स्लैब में बदलाव कर सकती है। लेकिन इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।

आईटीआर भरने में गड़बड़ी होती है तो सुधार का मौका दिया जाएगा

वित्त मंत्री ने कहा कि आयकर विभाग को पता चलता है कि किसी ने टैक्स पेयर आईटीआर नहीं भरा है तो फिर लंबी प्रक्रिया शुरू होती है। इस परेशानी से छुटकारे के लिए टैक्स भरने में चूक पर सुधार का मौका दिया जाएगा। अब आईटीआर भरने में गड़बड़ी होती है तो दो वर्ष तक सुधार करने का मौका होगा।

राज्यों को मिल सकेगा ब्याज मुक्त कर्ज

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि राज्यों को ब्याज मुक्त कर्ज मिल सकेगा। राज्यों की मदद के लिए 1 लाख करोड़ रुपये दिए जाएंगे। इसमें राज्यों को 50 साल के लिए बगैर ब्याज कर्ज भी दिया जाएगा।

इसलिए लाई जएगी बैटरी अदला बदली नीति

वित्त मंत्री ने कहा कि बड़े पैमाने पर ई-वाहन के चार्जिंग स्टेशन नहीं मिल पाते, क्योंकि जगह की बहुत कमी है। इसलिए बैटरी अदला-बदली नीति (Battery swapping policy) लाई जाएगी। इसके अलावा कहा कि एआई तकनकी, ड्रोन तकनीक और सेमी कंडक्टर्स में अपार संभावनाएं हैं। इसलिए इन्हें बढ़ावा दिया जाएगा।

इलेक्ट्रोनिक्स पर लगने वाले टैक्स में छूट- रत्न और आभूषण पर भी कस्टम ड्यूटी घटी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इलेक्ट्रोनिक्स पर लगने वाले टैक्स में छूट का ऐलान किया है। साथ ही कहा है कि रत्न और आभूषण पर कस्टम ड्यूटी घटाकर 5 प्रतिशत कर दी गई है। आगे कहा कि नकली गहनों पर कस्टम ड्यूटी 400 रुपये प्रति किलो रहेगी। वहीं स्टील के स्क्रैप पर कस्टम ड्यूटी एक और साल के लिए बढ़ाई गई है।. इसके अलावा खेती से जुड़े सामान को सत्ता किया जाएगा।

जीएसटी का रिकॉर्ड तोड़ कलेक्शन

वित्त मंत्री ने कहा है कि इस साल जनवरी के महीने में जीएसटी कलेक्शन का नया रिकॉर्ड बना है। पिछले महीने 1 लाख 40 हजार 986 करोड़ रुपये का जीएसटी कलेक्शन हुआ है, जोकि जीएसटी लागू होने से अब तक का सबसे बड़ा कलेक्शन है।

बजट पेश करने को केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी मिली

* केंद्रीय कैबिनेट ने आम बजट 2022 को पेश करने की अनुमति दे दी है। कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, रेलवे, संचार और आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी के अलावा अन्य नेता मौजूद रहे।

* बजट 2022 के पेश होने से पहले ही शेयर बाजार में बड़ा उछाल देखा जा रहा है। सेंसेक्स में 582.85 अंक ऊपर चढ़कर 58,597.02 पर खुला है तो वहीं निफ्टी 156.20 अंकों की बढ़त के साथ 17496.05 पर खुला है।

* प्रधानमंत्री मोदी संसद पहुंच गए हैं। इसके बाद बजट पर चर्चा के लिए कैबिनेट बैठक होगी। बैठक में बजट को मंजूरी मिलने के बाद उसे संसद में 11 बजे पेश किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रेलवे, संचार और आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी इस कैबिनेट बैठक में शामिल हुए।

* कैबिनेट मीटिंग के लिए मंत्रियों का पहुंचना शुरू हो चुका है। अमित शाह और राजनाथ सिंह बैठक के लिए। पीएम नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का अब इंतजार है।

* वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलकर राष्ट्रपति भवन से रवाना हुईं। इसके बाद वे संसद भवन पहुंची हैं।

* बजट की प्रतियां(बजट कॉपियां) संसद भवन पहुंचीं।

* वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, वित्त राज्य मंत्री भागवत किशनराव कराड, पंकज चौधरी और वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने केंद्रीय बजट 2022-23 पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की।

* वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपने आवास से आज सुबह करीब 8.30 बजे रवाना हुईं। इसके बाद वे वित्त मंत्रालय पहुंचीं। थोड़ी देर बाद यहां से वे रवाना हुईं। आज संसद में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज पेपरलेस बजट पेश करेंगी।

* केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री भागवत किशनराव कराड वित्त मंत्रालय पहुंचे। वहीं केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी वित्त मंत्रालय पहुंचे।

* केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि देश के पीएम और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के नेतृत्व में देश के सभी सेक्टर की भावनाओं को देखते हुए एक समावेशी बजट आने वाला है जिससे निश्चत तौर से देश के लोगों का कल्याण होगा और देश भी आगे बढ़ेगा।

* संसद में आज बजट पेश किया जाएगा, इससे पहले केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री भागवत किशनराव कराड ने अपने आवास पर पूजा की। भागवत किशनराव कराड ने कहा, "प्रधानमंत्री ने अपेक्षा की है​ कि बजट में हर दल को सहकार्य करना चाहिए।

* कोरोना महामारी काल में रोजगार का संकट और बढ़ती महंगाई ने आम लोगों की कमर तोड़ कर रख दी है। ऐसे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट भाषण पर आज सबकी नजरें टिकी हैं। खासकर सैलरीड क्लास को इस बजट से ज्यादा उम्मीदें। क्योंकि पिछले तीन-चार बजट से कुछ खास राहत नहीं मिली है। वहीं, किसान, महिला, बुजुर्ग, विद्यार्थी, युवा, उद्यमी समेत तमाम वर्ग भी इस बजट पर टकटकी लगाए है।

और पढ़ें
Next Story