Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Budget 2020 : बजट पेश करते समय निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में किसकी पढ़ी कविता, जानें

Budget 2020:आज लोकसभा में बजट पेश करने के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कश्मीरी भाषा में एक कविता पढ़ी जिसका अनुवाद बाद में उन्होंने हिंदी भाषा में भी किया। जानें किसकी है यह कविता।

Budget 2020:जानें बजट पेश करते समय लोकसभा में किसकी कविता गूंजीBudget 2020:जानें बजट पेश करते समय लोकसभा में किसकी कविता गूंजी

Budget 2020 : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में बजट पेश करते हुए एक कविता का कश्मीरी भाषा में पाठन किया। बाद में मंत्री ने इस कविता का हिंदी अनुवाद करके भी लाेकसभा में सुनाया। क्या आप जानते है यह किस कवि के कविता है। आपको बता दें कि यह कविता दीनानाथ नादिम की है। वित्त मंत्री ने कविता सुनाने के बाद बताया कि इस कविता को कश्मीरी कवि दीनानाथ नादिम ने लिखा है जिन्हें साहित्य अकादमी से सम्मानित भी किया जा चुका है।


वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा सुनाई गई कविता की पंक्तियां

हमारा वतन खिलते हुए शालीमार बाग जैसा

हमारा वतन डल लेक में खिलते हुए कमल जैसा

हमारा वतन नौजवानों के गरम खून जैसा

मेरा वतन, तेरा वतन, हमारा वतन

दुनिया का सबसे प्यारा वतन

कौन हैं दीनानाथ नादिम आइए जानें

18 मार्च 1916 को श्रीनगर में पैदा हुए दीनानाथ नादिम ने कश्मीरी कविताओं को नई दिशा दी।उन्होेंने कश्मीर में प्रगतिशील लेखक संघ की अगुवाई भी की। उन्होंने न सिर्फ कश्मीरी भाषा में कविताएं लिखी बल्कि हिंदी और उर्दू में भी कई काव्य कहे हैं। आपको बता दें कि एक बड़ी संख्या में युवा उनकी कविताओं से प्रभावित हैं। श्रीनगर में पैदा हुए दीनानाथ नादिम की बचपन से ही कविता के प्रति रुचि पैदा हो गई थी। एक पीढ़ी पहले तक कश्मीरी के कवि प्रकृति और प्रेम पर ही लिखते थे। हरिवंश राय बच्चन ने इनकी कुछ कविताओं का अनुवाद भी किया है।


Next Story
Top