Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Budget 2020 : जीडीपी ग्रोथ बढ़ाने के लिए सरकार उठा सकती है ये बड़ा कदम

Budget 2020 : केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Union Finance Minister Nirmala Sitharaman) एक फरवरी दिन शनिवार को बजट पेश करेंगी।

Budget 2020 : जीडीपी ग्रोथ बढ़ाने के लिए सरकार उठा सकती है ये बड़ा कदमबजट 2020

Budget 2020 (बजट 2020) : आम बजट 2020-21 (Union Budget 2020-21) को पेश करने की तारीख नजदीक आ गई है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Union Finance Minister Nirmala Sitharaman) एक फरवरी दिन शनिवार को बजट पेश करेंगी। सरकार (Government) जीडीपी ग्रोथ (GDP growth) बढ़ाने के लिए आयकर (Income Tax) में कमी और खर्च में वृद्धि कर सकती है।

इनकम टैक्स घटा सकती है सरकार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट में इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च बढ़ाने और इनकम टैक्स घटाने की घोषणा कर सकती हैं। एक्सपर्ट की मानें तो यदि यह घोषणा करती है तो इससे खपत और निवेश बढ़ाने में मदद मिलेगी।

वर्तमान समय में देश की अर्थव्यवस्था की ग्रोथ घटकर 10 सालों निचले स्तर पर आ गई है। बीते साल सितंबर तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत पर आ गई। इसका सीधा असर रोजगार पर पड़ रहा है।


लाखों युवा भीड़ का हिस्सा बन रहे

हर साल देशभर में लाखों युवा नौकरी तलाश करने वाले लोगों की भीड़ का हिस्सा बन रहे हैं। केंद्र सरकार के कॉर्पोरेट टैक्स में कमी करने और आरबीआई की मौद्रिक नीति के बावजूद भी निवेश में अधिक वृद्धि देखने को नहीं मिली।

इस कारण मोदी सरकार की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। अर्थशास्त्रियों का मानना है कि भारतीय रेलवे और ग्रामीण इलाकों से जुड़ी कल्याणकारी योजनाओं के लिए आवंटन बढ़ाने से ग्रोथ में वृद्धि हो सकती है।

अर्थशास्त्री शिलन शाह ने बताया किस तरह हो सकती है ग्रोथ

सिंगापुर में कैपिटल इकनॉमिक्स के अर्थशास्त्री शिलन शाह का मानना है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अर्थव्यवस्था में कमी और सरकार के खिलाफ बढ़ते प्रदर्शन को देखते हुए बजट में खर्च बढ़ाने के उपायों की घोषणा कर सकती हैं। यदि ऐसा हो जाता है तो ग्रोथ में वृद्धि मिलेगी। ऐसा करने से बॉन्ड यील्ड पर दबाव बढ़ जाएगा।

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) ने भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर के अनुमान को घटाकर 4.8 फीसदी कर दिया है। आईएमएफ ने अगले वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को घटाकर 5.8 प्रतिशत कर दिया है।

Next Story
Top