Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Budget 2019 Highlights: बजट वाले दिन वित्त मंत्री का काम क्या होता है ? जानें

Budget 2019 Highlights: मोदी सरकार 2.0 (Modi Govt 2.0) का बजट (Budget 2019) शुक्रवार 5 जुलाई को संसद (Parliament) में पेश होगा। उससे पहला आज गुरुवार को संसद में आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट (Economic Survey Report) को दोनों सदनों में पेश किया गया। इस सर्वे रिपोर्ट को मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम (Chief Economic Advisor Krishnamurthy subramanian) ने बनाया है।

Budget 2019 Highlights: जानें बजट वाले दिन क्या होता वित्त मंत्री का काम
X
Budget 2019 Highlights Finance Minister Work

Budget 2019 Highlights: मोदी सरकार 2.0 (Modi Govt 2.0) का बजट (Budget 2019) शुक्रवार 5 जुलाई को संसद (Parliament) में पेश होगा। उससे पहला आज गुरुवार को संसद में आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट (Economic Survey Report) को दोनों सदनों में पेश किया गया। इस सर्वे रिपोर्ट को मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम (Chief Economic Advisor Krishnamurthy subramanian) ने बनाया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने राज्यसभा (Rajyasabha) में सबसे पहले आर्थिक सर्वे रिपोर्ट को पेश किया उसकी बाद उसे लोकसभा (Loksabha) में रखा गया है। सरकार ने वित्त वर्ष 2019-20 में आर्थिक विकास दर (GDP) को 7 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है।

अब कल संसद में वित्त मंत्री पहला पूर्ण बजट पेश करेंगी। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिस दिन बजट पेश होता है उस दिन वित्त मंत्री का क्या काम होता है। आईए हम आपको पूरे दिन का काम यहां बताते हैं....



ये होता है वित्त मंत्री का बजट वाले दिन काम

बजट वाला दिन देश के वित्त मंत्री के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है। इस दिन वो देश के पूरे साल का बजट पेश करते हैं जिसमें देश के विकास का उल्लेख किया जाता है और नई नई योजनाओं की घोषणा की जाती है। सबसे पहले वित्त मंत्री अपने घर से नॉर्थ ब्लॉग जाते हैं और वहां से अपना बजट ब्रीफकेस उठाते हैं जिसके अंदर बजट की प्रतियां होती हैं।

वित्त मंत्रालय से जाते हैं संसद

वित्त मंत्रालय के नॉर्थ ब्लॉग के बाहर वो और उनके मंत्री साथ होते हैं। वो देश की मीडिया को अपना सीक्रेट ब्रीफकेस दिखाते हैं। जिसमें जनता के लिए कई सौगाते होती हैं। इसके बाद वो संसद भवन के लिए रवाना हो जाते हैं। उसके साथ ही बजट की ट्रक भरकर प्रतियां संसद भवन पहुंचती हैं।

संसद भवन में होता है ये काम

संसद भवन पहुंचने के बाद वित्त मंत्री सबसे पहले राष्ट्रपति के पास पहुंचते हैं क्योंकि बजट पेश करने की अनुमति राष्ट्रपति से ही ली जाती है। जब वो आज्ञा देते हैं तब ही बजट पेश किया जाता है। राष्ट्रपति की अनुमति मिलने के बाद वित्त मंत्री कैबिनेट के पास जाते हैं और उनके साथ बजट को लेकर बातचीत करते हैं वहां से भी केंद्रीय कैबिनेट अनुमति देती है।

वैसे आपको बता दें कि वित्त मंत्री की टीम ही बजट को तैयार करती है। लेकिन इस बजट को वित्त मंत्री और प्रधानमंत्री के चला मशवरे के बाद ही तैयार किया जाता है। कैबिनेट अनुमति का बाद वित्त मंत्री सदन में अपना बजट पेश करते हैं। वैसे इस बार महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अपना पहला बजट पेश करेंगी।



जानें कब और कहां होगा बजट पेश

इस साल मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी। वो संसद के लोकसभा सदन में सुबह 11 बजे अपना बजट पेश करेंगी। वित्त मंत्री लोकसभा स्पीकर को संबोधित करते हुए अपने भाषण की शुरूआत करते हैं। यह बजट कम से कम एक घंटा 90 मिनट होता है। इसके बाद सदन को स्थगित कर दिया जाता है और वित्त मंत्री सभी से मिलकर अपने आवास पर चले जाते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story