Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भरतपुर के ट्रक ड्राइवर को आतंकियों ने मारा, मरने से पहले बेटी से किया सेब लाने का वादा

शोपियां जिले के एसएसपी संदीप चौधरी के मुताबिक बीते सोमवार की देर शाम ड्राइवर शरीफ खान सिंधु श्रीमल गांव में अपने हेल्पर के साथ मिलकर ट्रक में सेब की पेटियों को भर रहा था।

भरतपुर ट्रक ड्राइवर शरीफ खान हत्या (फोटो- फाइल)
X
भरतपुर ट्रक ड्राइवर शरीफ खान हत्या (फोटो- फाइल)

राजस्थान (Rajasthan) के भरतपुर जिले के पहाड़ी कस्बे के उभाका गांव में मातम पसरा हुआ है। उभाका गांव के रहने वाले ट्रक ड्राइवर शरीफ खान की जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में दो आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी।

शोपियां जिले के एसएसपी संदीप चौधरी के मुताबिक बीते सोमवार की देर शाम ड्राइवर शरीफ खान सिंधु श्रीमल गांव में अपने हेल्पर के साथ मिलकर ट्रक में सेब की पेटियों को भर रहा था। इसी दौरान वहां दो आतंकी आए और गोलीबारी शुरू कर दी।

इस गोलीबारी में ड्राइवर शरीफ खान की मौत हो गई जबकि हेल्पर बचकर भागने में कामयाब रहा। हेल्पर हरियाणा का रहने वाला बताया जा रहा है। एसएसपी संदीप चौधरी के मुताबिक गांव के लोगों ने शरीफ खान को बचाने की कोशिश की थी लेकिन आतंकियों ने उनके साथ मारपीट की। जांच में मालूम हुआ है कि जिन आतंकियों ने ड्राइवर शरीफ खान की हत्या की है वह जैश-ए-मोहम्मद या हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी थे।

9 साल की बेटी को पिता का इंतजार

बता दें कि ड्राइवर शरीफ खान की मौत से भरतपुर जिले के पहाड़ी कस्बे के उभाका गांव में मातम पसरा हुआ है। मिली जानकारी के मुताबिक हत्या होने से चंद घंटे पहले शरीफ खान ने घर पर फोन किया था। इस दौरान उसकी बेटी बुशरा ने पिता से कहा कि अब्बू, कश्मीर से मेरे लिए सेब लेकर जरूर आना।

तभी से बेटे पिता के कश्मीर से सेब लेकर लौटने का इंतजार कर रही है। ड्राइवर शरीफ खान की मौत से परिजनों का बुरा हाल है। सुबह से ही आसपास के गांवों के लोग ढांढ़स बंधाने के लिए उनके घर पहुंचे थे। वहीं पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी ड्राइवर को घर पहुंचे और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी।

गांव के लोगों ने की 50 हजार की मांग

ड्राइवर शरीफ खान की आर्थिक स्थिति सही नहीं है। आर्थिक स्थिति सही नहीं होने के कारण उसकी 15 साल की नाबालिग बेटी ने 8वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी। वहीं जबकि 12 साल की एक लड़की चौथी कक्षा में बढ़ती जबकि बुशरा दूसरी कक्षा में पढ़ती है। गांव के लोगों ने सहायता के तौर पर पीड़ित परिवार के लिए 50 हजार रुपए और परिवार के एक सदस्या के लिए सरकारी नौकरी की मांग की है। शरीफ की पत्नी का नाम जन्नती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story