Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bhagat Singh Birth Anniversary: भगत सिंह की जयंती पर पढ़ें उनके 10 क्रांतिकारी विचार, जिन्होंने नौजवानों को दी हमेशा प्रेरणा

Bhagat Singh Birth Anniversary: भारत के वीर सपूत और नौजवानों के आइकन शहीद-ए-आजम भगत सिंह (Shaheed Bhagat Singh) की आज 112वीं जयंती मनाई जा रही है।

Bhagat Singh Birth Anniversary: भगत सिंह की जयंती पर पढ़ें उनके 10 क्रांतिकारी विचार, जिन्होंने नौजवानों को दी हमेशा प्रेरणा
X
Bhagat Singh Birth Anniversary 10 Quotes

Bhagat Singh Birth Anniversary: सरदार भगत सिंह या शहीद-ए-आजम भगत सिंह (Shaheed Bhagat Singh) का नाम जेहन में आते ही एक ऐसे जोशीले नौजवान का चेहरा उभरता है, जो अकेले अपने दम पर हिंदुस्तान की धरती को गोरी हुकूमत से मुक्त कराने का हौसला और जज्बा रखता था। वही भगत सिंह जिसने असेंबली में बम फेंका था और हंसते-हंसते फांसी के फंदे को चूम लिया था।

शहीद भगत सिंह (Bhagat Singh) का जन्म पंजाब प्रांत के लायपुर जिले के बगा में 28 सितंबर 1907 को हुआ था। देश के सबसे बड़े क्रांतिकारी और अंग्रेजी हुकूमत की जड़ों को अपने साहस से झकझोर देने वाले भगत सिंह ने नौजवानों के दिलों में आजादी का जुनून भरा था।


भगत सिंह की जयंती पर पढ़ें उनके 10 क्रांतिकारी विचार

1. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है। मैं एक ऐसा पागल हूं, जो जेल में आजाद है।

2. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि निष्ठुर आलोचना और स्‍वतंत्र विचार, ये दोनों क्रांतिकारी सोच के दो अहम लक्षण हैं।

3. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि बम और पिस्तौल से क्रांति नहीं आती, क्रांति की तलवार विचारों की सान पर तेज होती है।

4. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि प्रेमी पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं और देशभक्‍तों को अक्‍सर लोग पागल कहते हैं।

5. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि आम तौर पर लोग चीजें जैसी हैं उसी के अभ्यस्त हो जाते हैं। बदलाव के विचार से ही उनकी कंपकंपी छूटने लगती है। इसी निष्क्रियता की भावना को क्रांतिकारी भावना से बदलने की दरकार है।


6. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि व्‍यक्तियों को कुचलकर भी आप उनके विचार नहीं मार सकते हैं।

7. भगत सिंह ने कहा था कि हमेशा याद रखें कि प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।

8. भगत सिंह ने कहा था कि अगर बहरों को अपनी बात सुनानी है तो आवाज़ को जोरदार होना होगा. जब हमने बम फेंका तो हमारा उद्देश्य किसी को मारना नहीं था। हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था। अंग्रेजों को भारत छोड़ना और उसे आजाद करना चाहिए।

9. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि वे मुझे कत्ल कर सकते हैं, मेरे विचारों को नहीं। वे मेरे शरीर को कुचल सकते हैं लेकिन मेरे जज्बे को नहीं।

10. शहीद-ए-आजम भगत सिंह ने कहा था कि जिंदगी तो सिर्फ अपने कंधों पर जी जाती है, दूसरों के कंधे पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story