Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बंगाल हिंसा को लेकर समिति ने गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट, हत्या और हिंसा को लेकर चौंकाने वाले आंकड़े, महिलाओं पर हुए अत्याचार

बंगाल हिंसा को लेकर एनएचआरसी के अधिकारियों ने जाधवपुर का दौरा भी किया। अधिकारियों ने बताया कि हिंसा के दौरान 40 से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचाया गया।

बंगाल हिंसा को लेकर समिति ने गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट, हत्या और हिंसा को लेकर चौंकाने वाले आंकड़े, महिलाओं पर हुए अत्याचार
X

बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है। फैक्ट फाइंडिंग कमेटी ने गृह मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। इस रिपोर्ट में कई चौंकाने वाले खुलासे किए गए हैं। दावा है कि 25 लोगों की हिंसा के दौरान हत्या हुई और 7 हजार से ज्यादा महिलाओं पर अत्याचार हुए।

बंगाल हिंसा को लेकर एनएचआरसी के अधिकारियों ने जाधवपुर का दौरा भी किया। अधिकारियों ने बताया कि हिंसा के दौरान 40 से ज्यादा घरों को नुकसान पहुंचाया गया। हम पर गुंडों के द्वारा हमला भी किया जा रहा है। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने जानकारी देते हुए कहा कि चुनाव के बाद बंगाल में 25 लोगों की हत्या हुई। कम से कम 15 हजार से ज्यादा राजनीतिक हिंसाओं को अंजाम दिया गया और 7 हजार महिलाओं के ऊपर अत्याचार हुआ है।

जी. किशन रेड्डी ने आगे कहा कि 16 जिलों में राजनीतिक हिंसा हुई। हिंसा के दौरान हुए नुकसान के कारण लोग डरकर दूसरे राज्यों की तरफ चले गए। कमेटी द्वारा दी गई रिपोर्ट को हम गृह मंत्रालय के द्वारा जांच करेंगे। मामले में जो भी कदम उठाने होंगे हम उठाएंगे।

राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने बताया कि सिक्किम हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश प्रमोद कोहली की अध्यक्षता में एक रिपोर्ट में कहा गया है कि चुनाव के बाद और नतीजे घोषित होने के बाद 2 मई की रात से पूरे पश्चिम बंगाल के कई गांवों और कस्बों में एक साथ कई हिंसाएं हुईं थी। यह एक स्पष्ट संकेत है कि ज्यादातर घटनाएं छिटपुट नहीं बल्कि पूर्व नियोजित, संगठित और षडयंत्रकारी थीं। पांच सदस्यीय टीम में दो सेवानिवृत्त आईएएस और एक आईपीएस अधिकारी शामिल थे। जिन्होंने यह रिपोर्ट दी है।

Next Story