Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Beating Retreat 2020 : विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी, जानें भारत में कब हुई शुरुआत

Beating Retreat 2020 : बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी बहुत पुरानी है। इसे वॉट सेटिंग के नाम से भी जाना जाता है।

Beating Retreat 2020 Live : विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी, जानें भारत में कब हुई शुरुआतबीटिंग रिट्रीट सेरेमनी

Beating Retreat 2020 : 26 जनवरी को राजपथ पर हुए गणतंत्र दिवस परेड के बाद आज विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी आयोजित की गई। शाम छह बजे बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी की शुरुआत में थल, वायु और जल सेनाओं के बैंड की धुन से हुई। रायसीना रोड पर राष्ट्रपति भवन के सामने इसका प्रदर्शन किया गया।।

Beating Retreat 2020

* बीटिंग रिट्रीट समारोह का समापन हो गया है। तीनों सेना की सभी टुकड़िया बैंड बाजे के साथ अपने बैरक पर वापस चली गई हैं। राष्ट्रपति भवन, संसद भवन और कई अन्य सरकारी इमारतों को सुंदर लाइटों से सजाया गया है।

* पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त एनएस बुंदेला ने कहा कि बीटिंग रिट्रीट की वजह से आज रात 9:30 बजे तक विजय चौक आम लोगों के लिए बंद रहेगा।

* बीटिंग रिट्रीट समारोह के चलते कई रोडों को बंद किया गया है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने लोगों को एडवाइजरी जारी करते हुए बंद रोडों से बचने की सलाह दी है।

* विजय चौक पारंपरिक धुन पर थल, वायु और जल सेनाओं के बैंड की धुन बजाई जा रही है। समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी, उपराष्ट्रपति वेकैंया नायडू, राजनाथ सिंह, सीडीएस बिपिन रावत और लोकसभा स्पीकर ओम माथुर मौजूद हैं।

* बीटिंग रिट्रीट कार्यक्रम में सेना का बैंड मार्च वापस जाते समय 'सारे जहां से अच्‍छा हिंदोस्तां...' की धुन बजाई जाती है।

* बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी बहुत पुरानी परंपरा है। इसे सूरज ढलने के बाद मनाते हैं। भारत में बीटिंग रिट्रीट की शुरुआत साल 1950 में हुई थी।

भारत में कब शुरू हुई बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी बहुत पुरानी है। इसे वॉट सेटिंग के नाम से भी जाना जाता है। भारत में इसकी शुरुआत साल 1950 में हूई थी। इसके बाद बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी को दो बार

बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी बहुत पुरानी है. इसका असली नाम वॉट सेटिंग है. इसे सूरज ढलने के बाद मनाते हैं. भारत में बीटिंग रिट्रीट की शुरुआत साल 1950 में हुई थी. 1950 के बाद बीटिंग रिट्रीट कार्यक्रम को दो बार रद्द करना पड़ा था।

गुजरात में 26 जनवरी 2001 को भूकंप आया था। इस समय पहली बार बीटिंग रिट्रीट को रद्द करना पड़ा था। इसके बाद बीटिंग रिट्रीट को 27 जनवरी 2009 को 8 वें राष्ट्रपति वेंकटरमन के निधन की वजह से रद्द करना पड़ा था।

Next Story
Top