Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नाई ने पढ़ने की आदत को विकसित करने के लिए सैलून में खोली 1500 किताबों की लाइब्रेरी

मरियप्पा ने अपने सैलुन में टीवी आदि ना लगाते हुए 1500 पुस्तकों की एक छोटी सी लाईब्रेरी बना रखी है, ताकि अपनी बारी का इंतजार करने वाल लोग पुस्तक पढ़कर समय बिता सकें।

नाई ने पढ़ने की आदत को विकसित करने के लिए सैलून में खोली 1500 किताबों की लाइब्रेरीसैलुन पुस्तक लाईब्रेरी (फाइल फोटो)

कहते है कि किताबें इंसान की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं, जो आपका साथ कभी नहीं छोड़ती हैं। इन्हीं अच्छे दोस्तों से दोस्ती करवाने के लिए तमिलनाडु के एक निजी सैलुन में टीवी ना लगाते हुए लाइब्रेरी बना रखी है, जिसमें लगभग 1500 किताबें हैं। ताकि ग्राहक अपनी बारी के इंतजार में किताबें पढें।

हमने अक्सर देखा होगा की सैलून इत्यादि जगहों पर ग्राहकों के समय बिताने के लिए टीवी रख देखे होते हैं। सैलून जैसी जगहों पर गृहकों को अपनी बारी का इंतजार करना ही पड़ता है। मरियप्पा ने इस इंतजार को सार्थकता देते हुए अपने सैलून में 1500 किताबों की एक छोटी सी लाइब्रेरी बना रखी है। मिली जानकारी के मुताबिक पोन मरियप्पा तमिलनाडु के थूथुकड़ी जिले में अपना यह सैलून चलाते हैं।

मरियप्पा इस लाइब्रेरी में किताबों के साथ मासिक पत्रिकाएं और अखबार भी रखते हैं। लोग अपनी बारी का इंतजार करते हुए उपलब्ध किताबें पढ़ते हैं। इतना ही नहीं मरियप्पा ने अपने सैलून में मोबाइल फोन पर भी प्रतिबंध लगा रखा है, ताकि लोग पढ़ने की आदत को विकसित कर सकें।

जहां आज लोगों में पढ़ने की संस्कृति बिल्कुल खत्म ही होती जा रही है, ऐसे में मरियप्पा की यह प्रतिबद्धता अत्यंत प्रेरक है। नाई ने पढ़ने की आदत को विकसित करने के लिए सैलून में खोली 1500 किताबों की लाइब्रेरी

Haribhoomi Team

Haribhoomi Team

Jr. Sub Editor


Next Story
Top