Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Ballia Live: बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह समेत 6 पर 25 हजार का इनाम, वीडियो जारी कर दी सफाई

बलिया पुलिस ने मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह समेत छह लोगों के खिलाफ 25,000 का इनाम घोषित किया गया है। अभी मुख्य आरोपी फरार बताया जा रहा है। जिसने अपना वीडियो जारी कर उचित जांच की मांग की।

Ballia Live: बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह समेत 6 पर 25 हजार का इनाम, वीडियो जारी कर दी सफाई
X

उत्तर प्रदेश के बलिया में गोली कांड को लेकर लगातार पुलिस पूछताछ कर रही है। वहीं दूसरी तरफ बलिया पुलिस ने मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह समेत छह लोगों के खिलाफ 25,000 का इनाम घोषित किया गया है। अभी मुख्य आरोपी फरार बताया जा रहा है। जिसने अपना वीडियो जारी कर उचित जांच की मांग की।

मुख्य आरोपी पर रखा पुलिस ने 25 हजार का इनाम

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बलिया के एसपी ने गोली कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह समेत 6 वांछित आरोपियों के खिलाफ 25 हजार का इनाम घोषित किया है। इनकी जानकारी देने वाले को इनाम दिया जाएगा।

मुख्य आरोपी ने जारी किया वीडियो

तो वहीं दूसरी तरफ मुख्य आरोपी ने एक वीडियो जारी कर अपने गोलीकांड पर सफाई दी आरोपी ने कहा कि उसने उसने कोई गोली नहीं चलाई है और साथ ही कहा कि इस पूरे मामले की उचित जांच होनी चाहिए। बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी ने वीडियो जारी कर कहा कि मैंने नहीं चलाई कोई गोली। रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में घटना हुई।

इस मामले के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप ने सफाई देते हुए बताया कि बीती 15 अक्टूबर को राशन की दुकानों पर आवंटन होना था। इसी सिलसिले में वहां पर कई अधिकारी मौजूद थे और वह भी वहां पहुंचा था। उसने बताया कि इस दौरान उसने एसडीएम और बीडीओ से मुलाकात भी की थी। उसने अधिकारियों को अवगत कराया था कि क्षेत्र में काफी चीजें खराब थी और इस सिलसिले में उसने अधिकारियों से मुलाकात की थी

वहीं दूसरी तरफ धीरेंद्र के समर्थन में बलिया से विधायक सुरेंद्र सिंह के बयान से सरकार की किरकिरी हो रही है। सुरेंद्र सिंह ने बीते दिन बयान देते हुए कहा था कि धीरेंद्र प्रताप ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी। जिसके बाद से लगातार विपक्ष योगी सरकार पर निशाना साध रही है

इस मामले के बाद यूपी सरकार ने तुरंत अधिकारियों पर एक्शन लेते हुए जिले के एसपी, तीन सब इंस्पेक्टर, 5 कांस्टेबल और 2 महिला कांस्टेबलों को सस्पेंड कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ 10 पुलिसकर्मियों के खिलाफ निलंबित की कार्रवाई से पूरे प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

Next Story