Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बाबुल सुप्रियो पर हमला, बीजेपी ने की आलोचना, कब कब हुई बड़े नेताओं से अभद्रता

यूनिवर्सिटी के वीसी सुरंजन दास और देर रात राज्य के गवर्नर जगदीप धनखड़ जाधवपुर यूनिवर्सिटी पहुंचे और बीचबचाव करते हुए बाबुल सुप्रियो को कैंपस से बाहर निकाला। वहीं प्रकाश जावड़ेकर ने बाबुल सुप्रियो पर छात्रों द्वारा किए गए हमले की निंदा की और ममता सरकार पर निशाना भी साधा।

बाबुल सुप्रियो पर हमला, बीजेपी ने की आलोचना, कब कब हुई बड़े नेताओं से अभद्रताBabul Supriyo include many leaders Indecency

जाधवपुर यूनिवर्सिटी (Jadavpur University) में गुरुवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में जमकर हंगामा हो गया। केंद्रीय मंत्री व भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) के इस कार्यक्रम में शामिल का वाम समर्थित छात्र संगठन ने घेराव करते हुए विरोध किया। साथ ही उन्हें काले झंडे भी दिखाए।

खबरों के मुताबिक छात्र संगठन फासीवादी ताकतों के प्रतीक होने का हवाला देकर बाबुल सुप्रियो का विरोध कर रहे थे। इस दौरान छात्रों और बाबुल सुप्रियो के बीच हाथापाई भी हुई। यूनिवर्सिटी के वीसी सुरंजन दास और देर रात राज्य के गवर्नर जगदीप धनखड़ जाधवपुर यूनिवर्सिटी पहुंचे और बीचबचाव करते हुए बाबुल सुप्रियो को कैंपस से बाहर निकाला।

वहीं प्रकाश जावड़ेकर ने बाबुल सुप्रियो पर छात्रों द्वारा किए गए हमले की निंदा की और ममता सरकार पर निशाना भी साधा। यह कोई पहला मामला नहीं जब बड़े नेताओं से अभद्रता की गई है। इससे पहले भी नेताओं के साथ अभद्रता के मामले सामने आ चुके हैं।

कब कब हुई बड़े नेताओं से अभद्रता

* बलिया के डीएम भवानी सिंह खंगरौत ने मिड डे मील में जातिगत भेदभाव की शिकायत की जांच के दौरान 29 अगस्त को बसपा नेता डॉ मदन राम की 'क्लास' लगाने और कार्यकर्ताओं से नोकझोंक की थी।

जिसके बाद डीएम भवानी सिंह खंगरौत को बैकफुट पर आना पड़ा। डीएम ने ट्वीटर पर ट्रोल होने के बाद माफी मांगी थी। डीएम ने बसपा नेता डॉ मदन राम के जूते दिखाते हुए उसकी कीमत और हाथ पकड़कर घड़ी की कीमत पूछी थी।

* एक अप्रैल को उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ की सभा में जा रहे भाजपा युवा मोर्चा के नेताओं के साथ एक दरोगा ने अभद्रता की थी। फ्लाइओवर के पास भीड़ अधिक थी जिस कारण किसी बात को लेकर नेताओं और दरोगा में कहासुनी हो गई। अधिकारियों ने दरोगा को हटाकर दूसरे स्थान पर भेज पर तब जाकर मामला शांत हुआ था।

* समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव राजेंद्र यादव ने बांदा के शहर कोतवाली के डीएम कॉलोनी में डॉक्टर श्रवण तिवारी पर आरोप अभद्रता का आरोप लगाया। बताया गया था कि सपा नेता ने डॉक्टर से फोन पर इलाज के लिए नंबर कब आने की बात पूछी थी इस पर डॉक्टर ने सपा नेता से अभद्रता कर दी।

Next Story
Share it
Top