Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अयोध्या विवाद मामले में हिंदू समुदाय के पक्ष में रही है 9 तारीख, जानिए इस तारीख से जुड़ी खास-खास बातें

अयोध्या विवाद में आज 9 नवंबर 2019 10.30 बजे तक सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने वाला है। अयोध्या विवाद घटनाक्रम में 9 तारीख ने हमेशा हिंदू समुदाय के पक्ष में रही है।

अयोध्या फैसला : जानिए कौन हैं सुप्रीम कोर्ट के 5 जज, जिन्होंने सुनाया ऐतिहासिक फैसलाअयोध्या विवाद के घटनाक्रम में 9 तारीख का महत्व

अयोध्या विवाद (Ayodhya Dispute) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का बहु-प्रतीक्षित फैसला शनिवार को सुबह 10.30 बजे आने वाला है। संभावित फैसले को लेकर प्रशासन की तरफ से सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। 40 दिनों की लंबी सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर तरह तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। दोनों पक्षों को उम्मीद है कि फैसला उनके हक में आएगा। हालांकि 9 तारीख हमेशा हिंदू पक्षकारों के पक्ष में रही है। कई बार 9 तारीख को हुए अहम फैसले हिंदू पक्षकारों के हित में आए।

1952 से 9 तारीख का महत्व

इस मामले में वर्ष 1952 में बाबरी मस्जिद बनने के बाद से लेकर अब तक 9 तारीख का अहम महत्व रहा है। वर्ष 1986 में फैजाबाद जिला न्यायधीश ने विवादित स्थल पर हिंदूओं की पूजा की अनुमति दे दी थी। जिससे नाराज मुस्लिम समुदाय ने विरोध में बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी का गठन किया था। जिसके बाद राम जन्मभूमि पर 9 नवंबर 1989 को तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने विवादित स्थल के नजदीक शिलान्यास की इजाजत दी थी।

सुप्रीम कोर्ट ने 2011 को दिया स्टे

इलाहबाद हाइकोर्ट ने वर्ष 2010 में फैसला देते हुए 2:1 बहुमत के साथ विवादित क्षेत्र को सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और रामलला के बीच 3 हिस्सों में बांटने का आदेश दिया था। लेकिन इलाहबाद हाईकोर्ट के फैसले को हिंदू महासभा ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने उनकी याचिका पर सुनवाई करते हुए 9 मई 2011 को अयोध्या जमीन विवाद में इलाहबाद हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगाई थी। जो हिंदू पक्ष के लिए एक बड़ी उपलब्धि थी।

अब 9 को ही आएगा फैसला

आज फिर 9 नवंबर 2019 के दिन इस मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने वाला है। जिसके बाद यह तारीख भारत के इतिहास में अमर हो जाएगी। इस मामले में 9 तारीख के महत्व को देखते हुए हिंदू समुदाय के लोगों द्वारा उम्मीद जताई जा रही है कि इस बार भी 9 तारीख उनके पक्ष में ही रहेगी। घटनाक्रम में 9 तारीख का जो महत्व रहा है वो आज भी बरकरार रहेगा। 10.30 बजे अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद यह स्पष्ट हो जाएगा। कि हिंदू समुदाय के लिेए 9 तारीख का सच में कोई महत्व रहा। या फिर यह केवल एक भ्रम था।

Next Story
Share it
Top