Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Ayodhya Case: मध्यस्थता पैनल पर सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड की सफाई

अयोध्या जमीन विवाद (Ayodhya Land Case) को लेकर सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) ने मध्यस्थता पैनल (Mediation Panel) के प्रस्ताव को लेकर कहा कि देश की भलाई के लिए मध्‍यस्‍थता पैनल का प्रस्‍ताव दिया।

Ayodhya Case: मध्यस्थता पैनल पर सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड की सफाईअयोध्या जमान विवाद

उत्‍तर प्रदेश में अयोध्या जमीन विवाद (Ayodhya Land Case) में मध्‍यस्‍थता पैनल (Mediation Panel) के प्रस्ताव पर सुन्‍नी सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) ने अपनी सफाई दी है।

सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड ने कहा कि अयोध्‍या मामले में गठित मध्‍यस्‍थता पैनल के सामने जो भी प्रस्‍ताव दिया है, वो देश की भलाई के लिए ही दिया गया है। इस प्रस्ताव से कुछ लोगों को नाराजगी होगी।

बोर्ड के अध्‍यक्ष जुफर फारूकी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि बोर्ड में शामिल सभी लोगों से लंबी बातचीत के बाद ही मध्‍यस्‍थता पैनल के सामने प्रस्‍ताव रखा। यह मामला बेहद संवेदनशील है, ऐसेम में इसके बारे में काफी सोच समझ कर निर्णय लेना होगा।

उन्होंने आगे कहा कि हमें उम्मीद है कि कोर्ट हमारे साथ इंसाफ करेगा। अभी भी लोग हमारे इस प्रस्ताव का समर्थन कर रहे हैं। मध्‍यस्‍थता पैनल को दिये गये प्रस्‍ताव का खुलासा नहीं कर सकते हैं। इसी सील बंद लिफाफे में दिया गया है।

मीडिया से बातचीत के दौरान फारूकी ने कहा कि जो प्रस्ताव दिया गया है उसका अर्थ यह नहीं कि हम जमीन विवाद से पीछे हट रहे हैं। कोर्ट ने सभी पक्षों से मांगा है। अयोध्‍या मामले में प्रमुख पक्षकार सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड ने मध्‍यस्‍थता पैनल के सामने एक प्रस्‍ताव रखा है।

वहीं दूसरी तरफ शाहिद रिजवी ने कहा कि बोर्ड ने कुछ शर्तों पर बाबरी मस्जिद की जमीन से दावा छोड़ने को कहा है। लेकिन कई लोग इसका विरोध कर रहे हैं। अंत में उन्होंने कहा कि अदालत जो भी फैसला करेगी वो हमें मंजूर होगा।

Next Story
Share it
Top