Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अन्ना हजारे ने महाराष्ट्र सरकार से पूछा सवाल, शराब की दुकानें खुल सकती हैं तो मंदिर क्यों नहीं? आंदोलन हुआ तो दूंगा समर्थन

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार मंदिर क्यों नहीं खोल रही है? लोगों के लिए मंदिर खोलने में राज्य सरकार को क्या खतरा दिख रहा है? यदि कोरोना वजह है, तो फिर शराब की दुकानों के बाहर बड़ी कतारें क्यों हैं?

अन्ना हजारे ने महाराष्ट्र सरकार से पूछा सवाल, शराब की दुकानें खुल सकती हैं तो मंदिर क्यों नहीं? आंदोलन हुआ तो दूंगा समर्थन
X

महाराष्ट्र (Maharashtra) की उद्धव ठाकरे सरकार (Uddhav Thackeray Govt) पर आज सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे (Anna Hazare) ने राज्य में मंदिरों (Temples) को फिर से नहीं खोलने के रुख पर सवाल उठाया है। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे का कहना है कि यदि मंदिरों पर से प्रतिबंध हटाने के लिए आंदोलन किया जाता है तो वह उस आंदोलन को अपना समर्थन देंगे। अन्ना हजारे ने महाराष्ट्र की उद्धव सरकार के मंदिरों को फिर से खोलने से इनकार करने पर सवाल उठते हुए कहा कि शराब की दुकानें (liquor shops) खुल सकती हैं तो मंदिर क्यों नहीं?

खबरों से मिली जानकारी के अनुसार, सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने अहमदनगर जिले के रालेगण सिद्धि गांव में बीते शनिवार को मंदिरों को फिर से खोलने की मांग करने वाले कुछ लोगों के एक प्रतिनिधिमंडल ने उनसे मुलाकात की थी। उन्होंने कहा था कि महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार मंदिर क्यों नहीं खोल रही है? लोगों के लिए मंदिर खोलने में राज्य सरकार को क्या खतरा दिख रहा है? यदि कोरोना वजह है, तो फिर शराब की दुकानों के बाहर बड़ी कतारें क्यों हैं?

जानकारी के लिए आपको बता दें कि महाराष्ट्र में कोविड-19 की स्थिति में कुछ सुधार देखते हुए राज्य सरकार कई क्षेत्रों को दोबारा से खोलने की इजाजत दी है। राज्य सरकार की ओर से कोविड-19 टीके की दोनों डोज लगाने वाले लोगों को मुंबई में लोकल ट्रेनों में यात्रा करने की इजाजत दी गई है। हालांकि, महाराष्ट्र सरकार अब भी कोविड-19 के प्रसार के डर के कारण धार्मिक स्थलों को दोबारा खोलने से कतरा रही है। खासकर कि जब देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर का अनुमान लगाया जा रहा है। बता दें कि विशेष रूप से, विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) मांग करती रही है कि लोगों के लिए मंदिर फिर से खोले जाएं।

Next Story