Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति पर अमित शाह बोले- राज्यपाल ने किसी को भी मौका देने से इनकार नहीं किया

अमित शाह ने शिवसेना के साथ गठबंधन पर कहा कि महाराष्ट्र चुनावों से पहले प्रधानमंत्री और मैंने कई बार सार्वजनिक रूप से कहा कि यदि हमारा गठबंधन जीतता है तो देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री होंगे, किसी ने भी आपत्ति नहीं की। अब वे नई मांगें लेकर आए हैं जो हमें स्वीकार्य नहीं हैं।

महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति पर अमित शाह बोले- राज्यपाल ने किसी को भी मौका देने से इनकार नहीं कियाअमित शाह

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति पर समाचार एजेंसी एएनआई से बात की है। इस दौरान उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए इतना समय दिया जिसे किसी राज्य को नहीं दिया गया।

महाराष्ट्र के राज्यपाल ने सरकार बनाने के लिए 18 दिन दिए थे। राज्यपाल ने विधानसभा कार्यकाल समाप्त होने के बाद ही पार्टियों को आमंत्रित किया। न तो शिवसेना और न ही कांग्रेस-राकांपा ने दावा किया और न ही हमने। अगर आज भी किसी पार्टी के पास संख्या है तो वह राज्यपाल से संपर्क कर सकती है।

जिसके पास बहुमत है राज्यपाल से संपर्क कर सकते हैं

आज भी अगर किसी के पास संख्या है तो वे राज्यपाल से संपर्क कर सकते हैं। राज्यपाल ने किसी को भी मौका देने से इनकार नहीं किया है। कपिल सिब्बल जैसे विद्वान वकील बचकानी दलीलें दे रहे हैं जैसे हमें सरकार बनाने का मौका नहीं दिया गया।

शाह ने आगे कहा कि राज्यपाल ने किसी को भी मौका नहीं दिया है (सरकार बनाने के लिए)। कपिल सिब्बल जैसे विद्वान वकील बचकानी दलीलें दे रहे हैं जैसे राज्यपाल ने हमें सरकार बनाने का मौका नहीं दिया।

अमित शाह ने शिवसेना के साथ गठबंधन पर कहा कि महाराष्ट्र चुनावों से पहले प्रधानमंत्री और मैंने कई बार सार्वजनिक रूप से कहा कि यदि हमारा गठबंधन जीतता है तो देवेंद्र फडणवीस मुख्यमंत्री होंगे, किसी ने भी आपत्ति नहीं की। अब वे नई मांगें लेकर आए हैं जो हमें स्वीकार्य नहीं हैं।

महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन पर अमित शाह ने कहा कि इस मुद्दे पर विपक्ष राजनीति कर रहा है और एक संविधानिक पद को इस तरह से राजनीति में घसीटना मैं नहीं मानता लोकतंत्र के लिए स्वस्थ परंपरा है।

Next Story
Share it
Top