Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लखनऊ में अमित शाह बोले- मैं ऐलान करता हूं CAA किसी भी कीमत पर वापस नहीं होगा

जनसभा के दौरान अमित शाह ने कहा कि जो लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं, मैं उनसे यह पूछना चाहता हूं, ये लोग कहां गए? उन्होंने कहा जेएनयू में देश विरोधी नारे लगे, मुझे बताओ जो भारत माता के एक हजार टुकड़े करने की बात करे, उसे जेल में डालना चाहिए या नहीं?

लखनऊ में अमित शाह बोले- मैं ऐलान करता हूं CAA किसी भी कीमत पर वापस नहीं होगाअमित शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान शाह ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम मोदी सीएए को लेकर आए हैं और सीएए के खिलाफ ये राहुल बाबा और कंपनी ब्रिगेड ममता, अखिलेश, बहन मायावती भ्रम फैला रहे हैं। सारी की सारी ब्रिगेड 'कांव कांव' करने लगी है।

अमित शाह ने कहा कि विभाजन के समय, हिंदू, सिख, बौद्ध और जैन बांग्लादेश में 30 फीसदी और पाकिस्तान में 23 फीसदी की थे। तब दोंनो देशों का गठन किया गया था। लेकिन वर्तमान समय में 7 फीसदी और 3 फीसदी रह गए हैं।

जेएनयू में देश विरोधी नारे लगे

जनसभा के दौरान अमित शाह ने कहा कि जो लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं, मैं उनसे यह पूछना चाहता हूं, ये लोग कहां गए? उन्होंने कहा जेएनयू में देश विरोधी नारे लगे, मुझे बताओ जो भारत माता के एक हजार टुकड़े करने की बात करे, उसे जेल में डालना चाहिए या नहीं?

शाह ने आगे कहा कि भारत माता के खिलाफ नारे लगे तो जेल में डाल दूंगा। गौरतलब है कि नागरिकता कानून लागू होने के बाद से देश के कई हिस्सों में लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है।

सीएए किसी भी कीमत पर वापस नहीं होगा

अमित शाह ने यह भी कहा कि इस बिल को लोकसभा में मैंने पेश किया है। मैं विपक्षियों से कहना चाहता हूं कि आप इस बिल पर सार्वजनिक रूप से चर्चा कर लो। ये अगर किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकता है, तो उसे साबित करके दिखाओ।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमित शाह ने कहा कि मैं लखनऊ की धरती से घोषणा करता हूं सीएए किसी भी कीमत पर वापस नहीं होगा। हम राहुल ममता से सीएए पर चर्चा को तैयार हैं। नागरिकता कानून को लेकर पक्ष और विपक्ष के नेताओं के बीच बयानबाजी जारी है। वहीं केंद्र सरकार भी सीएए और एनआरसी के समर्थन में जगह जगह रैलियां और जनसभाएं कर रही है।

Next Story
Top