Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Aligarh Murder Case : अब तक 4 आरोपी गिरफ्तार, इलाके में तनाव के बीच पुलिस और RAF का फ्लैग मार्च

उत्तर प्रदेश के टप्पल में ढाई साल की बच्ची की नृशंस हत्या के सिलसिले में दो और लोगों को शनिवार को गिरफ्तार किया गया। अब तक 4 आरोपियों को गिफ्तार किया जा चुका है और एक फरार बताया जा रहा। वहीं इलाके में घटना के बाद बढ़े तनाव के बीच पुलिस और RAF का फ्लैग मार्च जारी।

Aligarh Murder Case : अब तक 4 आरोपी गिरफ्तार, इलाके में तनाव के बीच पुलिस और RAF का फ्लैग मार्च
X

उत्तर प्रदेश के टप्पल में ढाई साल की बच्ची की नृशंस हत्या के सिलसिले में दो और लोगों को शनिवार को गिरफ्तार किया गया। अब तक 4 आरोपियों को गिफ्तार किया जा चुका है और एक फरार बताया जा रहा। वहीं इलाके में घटना के बाद बढ़े तनाव के बीच पुलिस और RAF का फ्लैग मार्च जारी।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुख्य आरोपी जाहिद की बीबी शगुफ्ता और भाई मेंहदी हसन को विशेष जांच टीम ने सुबह गिरफ्तार किया। इससे पहले जाहिद और असलम को गिरफ्तार किया जा चुका है। अलीगढ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ मजबूत केस बना रही है ताकि यह सभी कानूनी प्रक्रियाओं पर खरा उतरे और फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए तेजी से न्याय सुनिश्चित हो सके। सभी संदिग्धों के फोन रिकार्ड चेक किये जा रहे हैं।

कुलहरि शुक्रवार देर रात तक घटनास्थल पर मौजूद थे। उन्होंने चेताया कि अगर कोई अफवाह फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करता है या शांति भंग करने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कुलहरि ने पुष्टि की कि जो दो लोग पकड़े गये हैं, उनमें से एक की उम्र लगभग 43 साल है और उसका आपराधिक इतिहास भी है। उसके खिलाफ गुंडा एक्ट लग चुका है और नाबालिगों के साथ यौन अपराध के लिए दो बार कार्रवाई हुई है।

उन्होंने बताया कि उक्त आरोपी के खिलाफ पाक्सो के दो अलग अलग मामले तथा बलात्कार का एक मामला लंबित है। दिल्ली में अपहरण के एक मामले में वह जेल गया था। पुलिस ने बताया कि आरोपी असलम के खिलाफ 2014 और 2017 में पाक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई हो चुकी है। उस पर उत्तर प्रदेश के गुंडा एक्ट के तहत भी कार्रवाई पूर्व में हुई है। पाक्सो का दूसरा मामला दिल्ली के गोकुलपुरी का है, जिसमें आरोपी ने नाबालिग का अपहरण भी किया था।

एसएसपी ने बताया कि तीन डाक्टरों के पैनल ने बच्ची के शव का पोस्टमार्टम किया। उन्हें बलात्कार का कोई साक्ष्य नहीं मिला हालांकि फोरेंसिक विशेषज्ञ नमूनों की जांच कर रहे हैं। इस बीच नृशंस हत्या के खिलाफ विरोध प्रकट करने के लिए नगर में कई जगहों पर कैंडल लाइट जुलूस निकाले गये। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शिक्षकों एवं छात्रों ने इस जघन्य हत्या की कडी निन्दा की है। उन्होंने अपराध को अंजाम देने वालों को जल्द और कडा से कडा दंड देने की मांग की। एएमयू शिक्षक संघ की विशेष बैठक में मांग की गयी कि फास्ट ट्रैक कोर्ट का तत्काल गठन किया जाए।

एएमयू के छात्रों ने परिसर में कैंडल लाइट मार्च किया। छात्रों ने कानून में बदलाव की मांग की ताकि ऐसे अपराधियों को उसी तरह का कडा दंड मिल सके, जैसा सउदी अरब में मिलता है। एसएचओ सहित पांच पुलिसकर्मियों को मामले में कथित लापरवाही बरतने के लिए निलंबित कर दिया गया है।

बच्ची टप्पल कस्बे से 30 मई को गायब हुई। उसका शव तीन दिन बाद घर के निकट कूडे के ढेर पर पडा मिला। अपर पुलिस महानिदेशक आनंद कुमार ने शुक्रवार को कहा था कि मामला त्वरित गति से चलाया जाएगा। प्राथमिकी में पाक्सो भी शामिल किया जाएगा। फिलहाल बलात्कार की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। नमूने फोरेंसिक जांच के लिए भेजे गये हैं। इस बीच अलीगढ़ बार एसोसिएशन के सचिव अनूप कौशिक ने ऐलान किया कि कोई भी वकील इस मामले में किसी भी आरोपी की ओर से अदालत में पेश नहीं होगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story