Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिवाली पर नहीं बाज आए लोग, दिल्ली-NCR में जमकर हुई आतिशबाजी... धुआं-धुआं हुआ पूरा शहर

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, दिवाली की अगली सुबह दिल्ली को धुंध की चादर ने ढक लिया है। जगह जगह पर धुंध की चादर देखने को मिल जाएगी।

दिवाली पर नहीं बाज आए लोग, दिल्ली-NCR में जमकर हुई आतिशबाजी... धुआं-धुआं हुआ पूरा शहर
X

दिवाली (Diwali) पर दिल्ली एनसीआर (Delhi NCR) में आतिशबाजी (Firecrackers) हुई। शाम से देर रात तक जमकर आतिशबाजी हुई। दिल्ली की वायु गुणवत्ता (Delhi Air Quality) बेहद खराब स्तर से गिरकर गंभीर श्रेणी में पहुंच गई है।

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, दिवाली की अगली सुबह दिल्ली को धुंध की चादर ने ढक लिया है। जगह जगह पर धुंध की चादर देखने को मिल जाएगी। अक्षरधाम इलाके में हवा की गुणवत्ता 452 तक पहुंच गई है। बीती रात दिल्ली और एनसीआर में हवा की गुणवत्ता 999 तक पहुंच गई थी।। जो गंभीर श्रेणी में आती है।




दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) बीती शाम 4 बजे के आस पास 382 के करीब था। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के बीच रात 8 बजे तक गंभीर श्रेणी में पहुंच गया है क्योंकि कम तापमान और धीमी हवा की गति के कारण प्रदूषक फैल नहीं सका। शुक्रवार की सुबह दिल्ली एनसीआर में पटाखों का और भी बुरा असर देखने को मिला। कई इलाकों में जमकर आतिशबाजी हुई। दिल्ली-एनसीआर के कई हिस्सों में हवा में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर को पार कर गया। लोगों ने आंखों और सीने में जलन की शिकायत भी मिली।

दिल्ली से सटे नोएडा में शाम से ही एक्यूआई 700 को पार कर गया। दरअसल, दिवाली की रात से पहले ही दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स 363 मापा गया था, जो बेहद खराब स्थिति में पहुंच गया था। वहीं, दिल्ली में दिवाली की रात पटाखों के फटने से वायु गुणवत्ता सूचकांक बढ़ गया। माना जा रहा है कि हवा की गुणवत्ता 999 से भी खराब है। एक्यूआई 400 के बीच और 500 को भी गंभीर माना जाता है। दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद के कई इलाकों में एक्यूआई 999 तक पहुंच गया था।

और पढ़ें
Next Story