Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

J&K: 3 अगस्त को रणजीत सागर डैम में वायुसेना का हेलीकॉप्टर हुआ था क्रैश, 76 दिनों में मिला दूसरे पायलट का शव

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पालय के शव को बरामद करने के बाद पार्थिव शरीर को पठानकोट सेना अस्पताल में रखा गया है। जल्दी ही पायलट के शव को परिवार को सौंप दिया जाएगा।

J&K: 3 अगस्त को रणजीत सागर डैम में वायुसेना का हेलीकॉप्टर हुआ था क्रैश, 76 दिनों में मिला दूसरे पायलट का शव
X

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) के रणजीत सागर डैम में 3 अगस्त को भारतीय वायुसेना का हेलीकॉप्टर क्रैश (Indian Air Force helicopter crashed) हुआ। अब 76 दिनों में हेलीकॉप्टर (helicopter) में सवार दूसरे पायलट का शव बरमाद किया गया है। 76 दिनों से सेना (army) के द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा था। रिपोर्ट के मुताबिक, डैम से पायलट के शव को आज दोपहर करीब 2 बजे निकाला गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पालय के शव को बरामद करने के बाद पार्थिव शरीर को पठानकोट सेना अस्पताल में रखा गया है। जल्दी ही पायलट के शव को परिवार को सौंप दिया जाएगा।

हादसे के 12 दिन बाद मिला था पहले पायलट का शव

गौरतलब है कि 3 अगस्त 2021 की सुबह भारतीय वायु सेना का हेलीकॉप्टर रणजीत सागर बांध में क्रैश हो गया था। इसके बाद हेलीकॉप्टर में सवार दोनों पायलट लापता हो गए थे। हेलीकॉप्टर क्रैश होने के 12 दिन बाद लेंफ्टिनेंट कर्नल एएस बाठ का शव बरामद कर लिया गया था, लेकिन दूसरे कैप्टन जयंत जोशी के बारे में कुछ पता नहीं लग पा रहा था। आज कैप्टन जयंत जोशी शव भी बरामद कर लिया गया है।

दिन रात सेना का जारी था सर्च अभियान

रक्षा मंत्रालय की तरफ से एक आधिकारिक बयान जारी किया गया है। बयान के मुताबिक, 3 अगस्त को रणजीत सागर बांध में दुर्घटनाग्रस्त हुए हेलीकॉप्टर के दूसरे पायलट कैप्टन जयंत जोशी के शव को निकालने के लिए दिन-रात 76 दिनों तक सेना और नौसेना द्वारा लगातार कोशिश की जा रही थी। और आखिरकार उनका शव बरामद कर लिया गया है।

Next Story