Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NDA का समर्थन मिलने के बाद ओम बिरला का सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुना जाना लगभग तय

लोकसभा के अध्यक्ष पद के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के प्रत्याशी के रूप में भाजपा ने मंगलवार को चौंकाने वाला नाम घोषित करते हुये राजस्थान से पार्टी सांसद ओम बिरला को उम्मीदवार बनाया है।

Rajasthan BJP MP Om Birla will be the next Lok Sabha Speaker.Rajasthan BJP MP Om Birla will be the next Lok Sabha Speaker. (Image: Twitter)

लोकसभा के अध्यक्ष पद के लिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के प्रत्याशी के रूप में भाजपा ने मंगलवार को चौंकाने वाला नाम घोषित करते हुये राजस्थान से पार्टी सांसद ओम बिरला को उम्मीदवार बनाया है।

विपक्षी दलों के गठबंधन 'संप्रग' का भी समर्थन मिलने के बाद इस पद पर बिरला का सर्वसम्मति से चुना जाना लगभग तय हो गया है। लोकसभा अध्यक्ष पद के लिये बुधवार को चुनाव होगा।

बिरला को राजग की ओर से मंगलवार को उम्मीदवार घोषित किया गया। देर शाम कांग्रेस की अगुवाई वाले विपक्षी दलों के गठबंधन 'संप्रग' ने भी बिरला को समर्थन देने की घोषणा कर दी। इसके साथ की बिरला का सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुना जाना लगभग तय हो गया है।

उनकी उम्मीदवारी घोषित होने के बाद राजग के विभिन्न घटक दलों के 13 लोकसभा सदस्यों ने बिरला के नाम की दावेदारी के प्रस्ताव का समर्थन किया।

देर शाम संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुयी विपक्षी दलों की बैठक में भी बिरला की उम्मीदवारी के समर्थन का फैसला किया गया, हालांकि उपाध्यक्ष के विषय में संप्रग, फिलहाल सत्तापक्ष के रुख की प्रतीक्षा करेगा।

बैठक के बाद लोकसभा में कांग्रेस के नेता सदन अधीर रंजन चौधरी ने बताया कि स्पीकर को लेकर संप्रग राजग के उम्मीदवार का समर्थन करेगा।

बैठक में चौधरी के अलावा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी के मुख्य सचेतक के. सुरेश, द्रमुक के टीआर बालू एवं कनिमोई, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सुप्रिया सुले, नेशनल कांफ्रेंस के फारुक अब्दुल्ला और कई अन्य दलों के सदन के नेता शामिल हुए।

इससे पहले भाजपा ने मंगलवार को लोकसभा सचिवालय के समक्ष बिरला की दावेदारी का नोटिस प्रस्तुत कर दिया। लोकसभा सचिवालय के एक अधिकारी ने इसकी पुष्टि करते हुये बताया कि शाम पांच बजे तक 13 सदस्यों ने बिरला के नाम के प्रस्तावक के रूप में नोटिस दिया है।

लोकसभा पटल कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिर्फ बिरला की दावेवारी का ही नोटिस मिला है। लोकसभा अध्यक्ष पद के चुनाव की प्रक्रिया के मुताबिक इस पद की दावेदारी के लिये पटल कार्यालय को नोटिस सौंपने की समय सीमा मंगलवार को दोपहर 12 बजे तक निर्धारित थी।

बिरला ने निर्धारित समय सीमा खत्म होने से पहले ही अपनी दावेदारी का नोटिस पटल कार्यालय को सौंप दिया। राजस्थान के कोटा- बूंदी संसदीय क्षेत्र से निर्वाचित हुये बिरला लगातार दूसरी बार भाजपा के टिकट पर लोकसभा सदस्य चुने गये हैं। वह तीन बार विधायक भी रहे हैं।

नामांकन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद बिरला (आयु 57 वर्ष) का लोकसभा अध्यक्ष बनना पहले ही तय माना जा रहा था, क्योंकि सत्तासीन राजग के पास निचले सदन में स्पष्ट बहुमत है।

बिरला को उम्मीदवार बनाये जाने की जानकारी देते हुये संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने बताया कि उनके नाम के प्रस्तावकों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी शामिल थे।

इसके अलावा बीजद, वाईएसआर कांग्रेस, नेशनल पीपुल्स पार्टी, मिजो नेशनल फ्रंट और राजग के घटक दलों शिवसेना, अकाली दल, अन्नाद्रमुक, अपना दल, जदयू तथा लोजपा के सदस्यों ने बिरला के नाम के प्रस्ताव वाले समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर किये।

Share it
Top