Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

African Cheetah Reintroduction Project : इंडिया लाया जाएगा अब अफ्रीकी चीता, सुप्रीम कोर्ट ने दे दी मंजूरी

African Cheetah Reintroduction Project : अफ्रीकी चीतों को पहले प्रयोग के लिए सबसे अच्छे स्थान पर रखा जाएगा और ये देखा जाएगा कि वो इंडिया के वातावरण के अनुसार खुद को ढ़ाल सकते हैं या नहीं।

इंडिया लाया जाएगा अब अफ्रीकी चीता, सुप्रीम कोर्ट ने दे दी मंजूरीअफ्रीकी चीता

African Cheetah Reintroduction Project: अफ्रीकी चीता जल्द ही इंडिया के कई साईटों पर दिखाई देने वाला है। सुप्रीम कोर्ट ने पूरी जांच-पड़ताल के बाद इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है।

कहां किया जाएगा जारी

एक सर्वे के बाद चीता को एक आइडियल लोकेशन पर जारी किया जाएगा। ये लोकेशन एक पैनल के द्वारा तय की जाएगी। जो हर चार महीने पर इसकी रिपोर्ट सबमिट करेगी।

क्या है कारण

राष्ट्रीय बाघ संरक्षण अथॉरिटी ने एक एप्लीकेशन फाईल की है जिसमें लिखा है कि देश से दुर्लभ चीतों की संख्या कम होती जा रही है और इसलिए उन्होंने नामीबिया से अफ्रीकी चीता लाने की अनुमति मांगी है।

इस प्रोजेक्ट को लाने में क्यों हुई देरी

सुप्रीम कोर्ट ने पर्यावरण मंत्रालय के अफ्रीकी चीतों को जारी करने की मांग को यह कहकर टाल दिया था कि अभी इस विषय पर स्टडी नहीं की गई है। और फिर एक नई याचिका में मंत्रालय ने कहा था कि पूरी जांच-पड़ताल के बाद ही इस जानवर को जारी किया जाएगा।

क्या है सरकार का प्लान

रिपोर्ट के अनुसार, सरकार का प्लान ये है कि वो पहले अफ्रीकी चीतों को नामीबीया जैसे अफ्रीकी देशों से इम्पोर्ट करेंगे और उसके बाद इंडिया में फिर से जारी करेंगे।

इस प्रोजेक्ट को किया जा चुका है रिजेक्ट

सुप्रीम कोर्ट ने 2012 में इस प्रोजेक्ट को रिजेक्ट कर दिया था क्योंकि कुछ लोगों ने यह तर्क दिया था कि अफ्रीकी चीतों को इम्पोर्ट करना अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ की गाइडलाइन्स के खिलाफ है। और इंडिया के नेशनल बोर्ड फॉर वाइल्ड लाइफ से कोई भी अनुमति नहीं ली गई है। कुछ विशेषज्ञों ने ये भी कहा था कि अफ्रीकी चीता और एशिय़न चीता जेनेटिक रुप से और दूसरे तरीकों से भी एक दूसरे से बिल्कुल अलग हैं।

सुप्रीम कोर्ट का ये है निर्देश

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अफ्रीकी चीतों को पहले प्रयोग के लिए सबसे अच्छे स्थान पर रखा जाएगा और ये देखा जाएगा कि वो इंडिया के वातावरण के अनुसार खुद को ढ़ाल सकते हैं या नहीं।

Next Story
Top