Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

AAP सांसद संजय सिंह का बयान - हां मैंने टेबल पर चढ़कर माइक तोड़ा, लेकिन लोकतंत्र बचाने के लिए ऐसा किया

राज्यसभा में उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह के साथ असंवैधानिक वर्ताव के बाद AAP सांसद संजय सिंह का बयान सामने आ रहा है। एक मीडिया एजेंसी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि हां मैंने टेबल पर चढ़कर माइक तोड़ दिया। लेकिन लोकतंत्र को बचाने के लिए ऐसा करना पड़ा।

AAP सांसद संजय सिंह का बयान - हां मैंने टेबल पर चढ़कर माइक तोड़ा, लेकिन लोकतंत्र बचाने के लिए ऐसा किया
X
एमपी संजय सिंह

राज्यसभा में उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह के साथ असंवैधानिक वर्ताव के बाद AAP सांसद संजय सिंह का बयान सामने आ रहा है। एक मीडिया एजेंसी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि हां मैंने टेबल पर चढ़कर माइक तोड़ दिया। लेकिन लोकतंत्र को बचाने के लिए ऐसा करना पड़ा।

पागल नहीं हैं सांसद

संजय सिंह ने कहा कि देश के सांसद पागल नहीं हैं। हमें संसद के प्रति अपने उत्तरदायित्व की पूरी समझ है। लेकिन हम सरकार से न्याय की उम्मीद कर रहे हैं। सदन में नियमों के विपरीत बिल को पास करवाया गया है। उन्होंने कहा कि इस बिल के लिए जिस प्रक्रिया को फोलो करना चाहिए था, वैसा नहीं किया गया। सही तरीके से वोटिंग नहीं हुई। उन्होंने कहा कि सरकार को देश के किसानों से माफी मांगनी चाहिए और ऐसे बिल के लिए शर्मिंदगी महसूस करनी चाहिए।

किसान करें विरोध

संजय सिंह ने कहा कि किसानों को विरोध करते रहना चाहिए। हमसे भी जो हो सकता है, हम कर रहे हैं। सरकार लोकतंत्र का गला घोंटेगी तो हम भी क्या कर पाएंगे। हम अपनी सीमा में रहते हुए इस बिल का विरोध कर रहे हैं और चाहते हैं कि किसान भी विरोध करते रहें।

उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी पंजाब और उत्तरप्रदेश में विरोध कर रही है। इसके कारण हमारे कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट भी की जा रही है। लेकिन किसानों के साथ ऐसा नहीं चलेगा। आप किसानों के साथ खेल नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि वो किसानों को 50 प्रतिशत से भी ज्यादा खरीद मूल्य देंगे। लेकिन मीडिया को ये याद नहीं है।

माफी मांगने के बारे में भी दी अपनी राय

उन्होंने कहा कि पहले सरकार माफी मांगे। बिल को सदन में वापस लाए और वोटों के अनुसार उस पर फैसला करे। सरकार ने पाप किया है और लोकतंत्र का गला घोंटने की कोशिश की है।

Next Story