Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Aarey Protest: जानें आखिर क्यों आरे कॉलोनी में मचा है बवाल, भाजपा-शिवसेना दो फाड़ में बंटी

मुंबई की आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई को लेकर भारतीय जनता पार्टी और शिव सेना का रुख अलग-अलग है। भाजपा का पक्ष विकास है तो शिव सेना का पक्ष पर्यावरण है।

रुझानों में वर्ली सीट से शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे आगेमहाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के रुझानों में आदित्य ठाकरे वर्ली सीट से आगे चल रहे।

मायानगरी मुंबई आरे कॉलोनी (Aarey Colony) में मेट्रो कारशेड (Metro Carshed) बनाने के लिए पेड़ों (Trees Cut) के काटन को लेकर सुर्खियों में है। लोग कॉलोनी पहुंचकर पेड़ काटे जाने का विरोध कर रहे हैं। लोगों के समर्थन में राजनीतिक पार्टियों के नेता और बॉलीवुड भी उतर आया है। बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद प्रशासन ने इलाके में पेड़ों की कटाई शुरू किया।

मीडिया और लोगों के प्रवेश पर भी पाबंदी लगा दी गई है। पुलिस ने विरोध कर रहे पर्यावरण प्रेमियों को खदेड़ दिया है और इलाके मे धारा 144 भी लागू कर दी। लेकिन अहम बात यह है कि पेड़ों का काटन ऐसे समय पर हो रहा है, जब महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की दहलीज पर खड़ा है। राज्य चुनाव में भाजपा के गठबंधन में शामिल शिव सेना भी पेड़ काटे जाने का विरोध कर रही है। इस मामले को लेकर दोनों दलों के बीच मतभेद शुरू हो गए हैं।

सरकार को पर्यावरण बचाने की बात नहीं करनी चाहिए

आरे कॉलोनी में पेड़ों के कटान को लेकर भारतीय जनता पार्टी और शिव सेना का रुख अलग-अलग है। भाजपा का पक्ष विकास है तो शिव सेना का पक्ष पर्यावरण है। वर्ली सीट से शिवसेना उम्मीदवार आदित्य ठाकरे ने पेड़ों की कटाई का विरोध कर रहे लोगों का समर्थन किया है।

आदित्य ठाकरे ने भाजपा सरकार के इस फैसले पर कड़ी प्रतिक्रिया दी और कहा कि यदि सरकार को आरे कॉलोनी के जंगल की चिंता नहीं है तो उन्हें पर्यावरण को बचाने की बात नहीं करनी चाहिए।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि आरे कॉलोनी के लोगों के साथ हमारे शिवसैनिक खड़ें हैं। मुझे समझ नहीं आ रहा कि मुबंई मेट्रो मुंबईवासियों को अपराधी की तरह क्यों देख रही है और उनकी मांग को क्यों नहीं सुन रही।

शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी को पुलिस ने हिरासत में लिया

बॉम्बे हाईकोर्ट ने शुक्रवार को आरे कॉलोनी में मेट्रो कारशेड बनाने के लिए 2702 पेड़ों को काटे जाने के खिलाफ दायर याचिका को खारिज दिया। कोर्ट के आदेश के बाद शुक्रवार रात आठ बजे से पेड़ों के काटने का कार्य शुरू हो गया। जैसे की इसकी जानकारी पर्यवरण प्रेमियों को लगी उन्होंने आरे कॉलोनी पहुंचर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

जिसके बाद मेट्रो-रेल प्रोजेक्ट साइट पर धारा 144 लागू कर दी गई है। इस मामले में वेस्टर्न एक्सप्रेस-वे पर सरकार के फैसले प्रदर्शन कर रहीं शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी को भी हिरासत में लिया गया है। अब तक 100 से अधिक लोगों की हिरासत में लिए जा चुके हैं। पुलिस ने आरे जंगल के बाहर कई इलाकों में बैरिकेड लगाकर रोक लगी रखी है।

Next Story
Share it
Top