Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बड़ी खबर: असम में भारतीय जवानों ने मुठभेड़ में मार गिराए 7 उग्रवादी, अभी भी पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी

नगालैंड की सीमा से सटे असम के कार्बी आंगलोंग के धनसिरी इलाके में सुरक्षाबलों और उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में सात उग्रवादी ऑपरेशन के दौरान मारे गए हैं।

बड़ी खबर: असम में भारतीय जवानों ने मुठभेड़ में मार गिराए 7 उग्रवादी, अभी भी पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी
X

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा

असम में सुरक्षाबलों को मुठभेड़ के दौरान एक बड़ी कामयाबी मिली है। असम के कार्बी आंगलोंग इलाके में असम राइफल्स और स्थानीय पुलिस के द्वारा एक संयुक्त ऑपरेशन चलाया गया। जिसमें कम से कम 7 उग्रवादियों के मारे जाने की खबर है। इस खबर की पुष्टि खुद राज्य के मुख्यमंत्री ने की है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नगालैंड की सीमा से सटे असम के कार्बी आंगलोंग के धनसिरी इलाके में सुरक्षाबलों और उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में सात उग्रवादी ऑपरेशन के दौरान मारे गए हैं। राज्य के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने इसकी जानकारी दी है। फिलहाल अभी भी पूरे इलाके में सुरक्षा बलों और स्थानीय पुलिस के साथ सर्च ऑपरेशन जारी है।

जानकारी के लिए बता दें कि नागालैंड की सीमा से सटे असम के कार्बी आंगलोंग के धनसिरि इलाके में यह मुठभेड़ हुई है। जिसमें उग्रवादी दिमासा नेशनल लिबरेशन आर्मी संगठन से जुड़े उग्रवादी मारे गए हैं। वहीं सुरक्षा बलों द्वारा मारे गए उग्रवादियों के पास से असला बारूद और कई हथियार बरामद हुए हैं। फिलहाल अभी भी इलाके में सर्च ऑपरेशन चल रहा है।

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि असम पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में 7 उग्रवादी मारे गए हैं। सुरक्षाबलों और पुलिस को मुठभेड़ स्थल से एके-47 और गोला बारूद मिले हैं। इस मुठभेड़ के दौरान दो नेताओं के घायल होने की भी खबर है। असम राइफल को गुप्त सूचना मिली थी कि यहां पर उग्रवादी मौजूद है। जिसके बाद तड़के सुबह असम पुलिस और असम राइफल्स ने संयुक्त अभियान शुरू किया और पूरे इलाके में तलाशी अभियान के दौरान उग्रवादियों की घेराबंदी कर ली।

उसके बाद उग्रवादियों और पुलिस के बीच जमकर मुठभेड़ हुई। जवाबी कार्रवाई में कई घंटे चली मुठभेड़ के दौरान उग्रवादी मारे गए। जानकारी के लिए बता दें कि 2 साल पहले ही उग्रवादियों ने संगठन बनाया। जिसमें एक स्वतंत्र देश बनाने की मांग की जा रही है। इस उग्रवादी संगठन के प्रमुख समेत कई लोग अभी भी जिले में एक्टिव है और हाल ही में इस संगठन ने एक युवक की हत्या भी कर दी थी।

और पढ़ें
Next Story