Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गूगल प्ले स्टोर से हटा टिक टॉक, कंपनी ने दिया ये बयान

केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा चीन की 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने के बाद कई एप कंपनियों ने सरकार के इस फैसले का जोरदार स्वागत किया है।

टिकटॉक वाले जरा ध्यान दें, टिकटॉक को टक्कर देने आ रही हैै टैंगीटिकटॉक वाले जरा ध्यान दें, टिकटॉक को टक्कर देने आ रही हैै टैंगी

केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा चीन की 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाने के बाद कई एप कंपनियों ने सरकार के इस फैसले का जोरदार स्वागत किया है। तो वहीं दूसरी तरफ टिकटॉक ने भी बड़ा बयान दिया है। शेयर चैट जैसी कंपनी ने एप्पल एप स्टोर और गूगल प्ले स्टोर से टिक टॉक हटने के बाद कहा कि सरकार का यह फैसला बिल्कुल सही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार के इस फैसले का व्यापारियों के संगठन कैट और सोशल मीडिया ऐप शेयरचैट ने स्वागत किया है। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा कि चीन का बहिष्कार अभियान को मजबूत करने में इस फैसले से मदद मिलेगी। साथ ही भारत के कई व्यापारियों को इससे लाभ मिलेगा।

वहीं दूसरी तरफ शेयर चैट कंपनी ने कहा कि सरकार ने जो फैसला लिया है वह उसका स्वागत करता है। साथ ही यूजर्स की गोपनीयता,साइबर सुरक्षा और राष्ट्र सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा बनने वाले ऐप को बैन किया जाना जरूरी है।

बैन लगने के बाद टिकटॉक कंपनी का बयान

टिकटॉक कंपनी पर बैन लगने के बाद उसके अधिकारियों ने कहा है कि सरकार के आदेश का अनुपालन की प्रक्रिया जारी है। कंपनी और सरकार के बीच बातचीत हो रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ टिक टॉक कंपनी के अधिकारियों ने कहा कि हमने किसी भी तरह की कोई जानकारी ना तो चीन और ना ही किसी विदेशी सरकार के साथ शेयर की है। अभी हमारी बातचीत सरकार के साथ चल रही है। सरकार के सभी नियमों का पालन पूरी तरह से कंपनी कर रही है।

जानकारी के लिए बता दें कि मोदी सरकार ने चीन की 59 ऐप बैन करने के पीछे देश की सुरक्षा, संप्रभुता और अखंडता को लेकर फैसला लिया है। सरकार ने कहा कि इन चीनी एप्स भारत के लिएखतरा है। चीनी ऐप को प्रतिबंध किया गया है। उनमें टिकटॉक के अलावा यूसी ब्राउजर भी शामिल है।

Next Story
Top