Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavius Death In India : देशभर में कोरोना से अब तक 513 डॉक्‍टरों की गई जान, दिल्ली के बाद इन राज्यों में सबसे ज्यादा हुई मौतें

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पहली लहर में जहां डॉक्टर्स केवल संक्रमित हुए थे, वहीं दूसरी लहर उनकी जिंदगियों पर भी भारी पड़ रही है। अकेले राजधानी दिल्ली में अब तक 103 डॉक्टर इस महामारी से लड़ते हुए जान गंवा चुके हैं।

कोरोना से मृत शासकीय कर्मचारियों के परिजनों को केंद्र से नहीं मिला आर्थिक सहयोग
X

कर्मचारी की कोरोना से मौत (प्रतीकात्मक तस्वीर)

देश में कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) के खिलाफ जंग में मजबूती के साथ खड़े स्वास्थ्यकर्मियों की जिंदगियों पर भी यह महामारी भारी पड़ रही है। अब तक कोरोना से अलग-अलग राज्यों में 513 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है। इनमें से 103 डॉक्टर अकेले राजधानी दिल्ली (Delhi) से हैं। यही नहीं, 24 घंटे ड्यूटी पर रहने से डॉक्टरों को कई अन्य चुनौतियों का भी सामना करना पड़ रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) की ओर से जारी ताजा आंकड़ों से पता चला है कि कोविड से चिकित्सकों की मौत के मामले में बिहार दूसरे नंबर पर है। यहां इस महामारी से अब तक 96 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है। इसी प्रकार उत्तर प्रदेश में 41 और राजस्थान में 39 डॉक्टरों ने इस संक्रमण के खिलाफ जंग लड़ते हुए खुद की भी जिंदगी गंवा दी। आंकड़ों के मुताबिक आंध्र प्रदेश, झारखंड और तेलंगाना में 29-29 डॉक्टरों की मौत हुई है। बता दें कि आईएमए देशभर में डॉक्टरों की कोविड से मौत का ब्यौरा दर्ज कर रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कोविड की पहली लहर के दौरान अगस्त 2020 में देशभर के 87,000 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी इस महामारी की चपेट में आ गए थे। यह मामले महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, दिल्ली, पश्चिम बंगाल और गुजरात से सामने आए थे। बता दें कि दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के1,491 नए मामले आए हैं, जबकि 130 लोगों की मौत हो गई है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन का कहना है कि राजधानी में पॉजिटिविटी रेट एक समय 36 फीसद था, जो अब घटकर 2 फीसद हो गया है। लॉकडाउन की वजह से दिल्ली में अब कोरोना के मामले और पॉजिटिविटी रेट दोनों ही कम हैं।

Next Story