Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कारोबारी का आलीशान घर बनवाने का सपना एक सपना ही बनकर रह गया, जानिए आखिर क्या है माजरा

कारोबारी ने लंबे समय तक अपना वैसा जमा किया। लेकिन किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था। कारोबारी के आलीशान घर बनवाने का सपना एक सपना ही बनकर रह गया।

कारोबारी का आलीशान घर बनवाने का सपना एक सपना ही बनकर रह गया, जानिए आखिर क्या है माजरा
X

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के कृष्णा जिले में एक कारोबारी ने आलीशान घर बनवाने का सपना देखा। इसके लिए कारोबारी ने लंबे समय तक अपना वैसा जमा किया। लेकिन किस्मत को तो कुछ और ही मंजूर था। कारोबारी के आलीशान घर बनवाने का सपना एक सपना ही बनकर रह गया।

दरअसल यह मामला कृष्णा जिले से सामने आया है। जिले में रहने वाले एक कारोबारी ने आलीशान घर बनवाने का सपना देखा। मगर आलीशान मकान बनाने के लिए जुटाई गई रमक रद्दी में तब्दील हो गई।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कृष्णा जिले के माइलवारम में बिजली जमालय नाम का कारोबारी सूअरों को खरीदने-बेचने का काम करता था। इस कारोबार से जो भी कोरोबारी को आमदनी होती, वह पैसा वो बैंक में जमा नहीं करता था।

उसने कमाए पैसों को अपने घर में एक ट्रंक में इकट्ठा किया। इस जमा पैसे से कारोबारी ने एक आलीशान घर बनाने का सपना देखा। लेकिन जब उसने एक दिन ट्रंक खोलकर देखा तो उसके अरमानों पर पानी फिर गया।

क्योंकि ट्रंक में रखे करीब 5 लाख रुपये रद्दी में तब्दील हो गए। क्योंकि इस पैसे को दीमक लग गई थी, इसकी कारण उसका पूरा का पूरा पैसा रद्दी में बदल गया। यह देखकर कारोबारी बुरी तरह निराश हो गया और उसकी कुछ नम भी हो गई। वो रद्दी में तब्दील हुए नोटों को बहुत देर तक निहारता रहा।

इसके बाद कारोबारी ने इन सभी पैसों को बच्चों में बांट दिया, ताकि ये पैसे कम-से कम बच्चों के तो खेलने के काम आ सके। बच्चों को असली नोट से खेलते हुए देखकर किसी ने इस बात की जानकारी पुलिस को दे दी। जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची ने ट्रंक में भारी मात्रा में दीमक लगे हुए नोट पाये। पुलिस ने नोटों को जब्त कर कारोबारी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Next Story