Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मुंबई में बढ़ा डेंगू का खतरा, साल 2020 की तुलना में दोगुने हुए मरीज: बीएमसी

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल की तुलना में मुंबई में डेंगू के मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई है। पिछले साल मुंबई में डेंगू के 129 मरीज मिले थे।  रिपोर्ट में कहा गया है कि अभी तक मच्छर से संबंधित बीमारी से किसी मौत नहीं हुई है।

मुंबई में बढ़ा डेंगू का खतरा, साल 2020 की तुलना में दोगुने हुए मरीज: बीएमसी
X

भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर थम गई है। लेकिन वैज्ञानिक देश में कोविड-19 (Covid-19) की तीसरी लहर की आशंका जता रहे हैं। इसी बीच देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में डेंगू (Mumbai dengue) का खतरा अधिक बढ़ गया है। ग्रेटर मुंबई नगर निगम (BMC- बीएमसी) की रिपोर्ट के अनुसार जनवरी 2021 से अब तक मुंबई में 305 डेंगू के मरीज पाए गए हैं। इस महीने में अब तक 85 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल की तुलना में मुंबई में डेंगू के मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई है। पिछले साल मुंबई में डेंगू के 129 मरीज मिले थे। रिपोर्ट में कहा गया है कि अभी तक मच्छर से संबंधित बीमारी से किसी मौत नहीं हुई है। हालांकि साल 2020 में अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी थी।

मुंबई में सितंबर में सबसे ज्यादा डेंगू के मरीज पाए गए हैं। 1 सितंबर से 12 सितंबर के बीच 85 डेंगू मरीज सामने आए हैं। जबकि पिछले महीने 144 लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि भायखला, चिंचपोकली, अग्रीपाड़ा, दादर-पूर्व, सायन-पूर्व, माटुंगा, एंटॉप हिल, धारावी, दादर और माहिम में डेंगू के मरीज पाए गए हैं।

स्वास्थ्य टीम अब तक 4,46,077 घरों का निरीक्षण कर चुकी है। ऐसे 4,108 स्थानों को नष्ट कर दिया गया है जहां पर मच्छर पैदा हो रहे हैं। लोगों से कहा गया है कि अपने आस-पास स्थानों को साफ रखें और खाली बर्तनों, टायरों, डिब्बे, थर्मोकोल के डिब्बे, नारियल के बक्सों आदि में पानी जमा न होने दें। नगर निगम ने जानकारी दी है कि जिन जगहों पर मच्छर पैदा होते हैं, उन्हें नष्ट करने के लिए ड्रोन तैनात किए गए हैं। जानकारी के लिए आपको बता दें कि वर्तमान समय में देश के कई राज्यों में डेंगू और वायरल बुखार से हालात बेहद खराब हैं। जिस कारण बच्चों की मौतें हो रही हैं।

Next Story