Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

असम के दो जिलों से बांग्लादेशी आतंकी समूह अंसारुल इस्लाम के 12 'जिहादी' गिरफ्तार

मोरीगांव जिला पुलिस प्रमुख अपर्णा नटर्जन ने कहा, मोइराबाड़ी थाने के सोरुचोला गांव में एक निजी मदरसा चलाने वाले एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।

असम के दो जिलों से बांग्लादेशी आतंकी समूह अंसारुल इस्लाम के 12 जिहादी गिरफ्तार
X

बांग्लादेश स्थित आतंकवादी समूह अंसारुल इस्लाम (Bangladesh-based terror group Ansarul Islam) से जुड़े 12 कथित जिहादियों को असम (Assam) के दो जिलों से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधिकारियों ने ये जानकारी दी है। अधिकारियों ने कहा कि किमोरीगांव जिले (Morigaon district) से सात अन्य लोगों को भी इसी संगठन के लिंकमैन होने के संदेह में पकड़ा गया था।

वहीं असम मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Chief Minister Himanta Biswa Sarma) ने कहा है कि राज्य में राष्ट्रीय स्तर पर समन्वित अभियान (nationally coordinated operation) में दो बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया गया है। पुलिस अधीक्षक अमिताभ सिन्हा ने बताया कि 12 संदिग्ध जिहादियों में से 10 को बारपेटा जिले के जानिया इलाके से गिरफ्तार किया गया है। जबकि एक को गुवाहाटी से हिरासत में लिया गया है।

मोरीगांव जिला पुलिस प्रमुख अपर्णा नटर्जन ने कहा, मोइराबाड़ी थाने के सोरुचोला गांव में एक निजी मदरसा चलाने वाले एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। व्यक्ति पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा जिला पुलिस प्रमुख अपर्णा नटर्जन ने कहा कि गिरफ्तार किया गया मुफ्ती मुस्तफा कथित तौर पर अंसारुल इस्लाम से जुड़े विभिन्न वित्तीय लेनदेन और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल था, जो भारतीय उपमहाद्वीप (एक्यूआईएस) में एक बड़े संगठन अल-कायदा से रिलेटिड है।

सात अन्य लोग, जिन्हें पुलिस ने अंसारुल इस्लाम से जुड़े होने के संदेह में गिरफ्तार किया था, सभी गांव के एक अन्य मदरसे के शिक्षक हैं। वर्ष 2019 के बाद से मुस्तफा ने अंसारुल इस्लाम के कार्यकर्ताओं अमीरुद्दीन अंसारी और मामून राशिद के साथ कई वित्तीय लेनदेन किए थे, जिन्हें कुछ महीने पहले कोलकाता और बारपेटा से गिरफ्तार किया गया था। मुस्तफा के बैंक खातों को जब्त कर लिया गया है और उनका विश्लेषण किया जा रहा है। जांच के दौरान यह भी पता चला है कि उन्होंने मदरसे में एक विदेशी देश के 'वांछित व्यक्ति' को आश्रय दिया था जो भागने में कामयाब रहा। गिरफ्तारियां बुधवार से की गई हैं।

और पढ़ें
Next Story