Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारतीय-अमेरिकी सैनिकों का संयुक्त अभ्यास संपन्न, युद्ध कौशल का किया आदान-प्रदान

भारत और अमेरिका के बीच संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण की संयुक्‍त श्रृंखला का 10वां अभियान है

भारतीय-अमेरिकी सैनिकों का संयुक्त अभ्यास संपन्न, युद्ध कौशल का किया आदान-प्रदान
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां एक तरफ भारत-अमेरिका के साथ आर्थिक संबध मजबूत करने पर जोर दे रहे है। तो दूसरी तरफ भारत-अमेरिका के सैनिकों का संयुक्त अभ्यास 'युद्ध अभ्यास 2014' उत्तराखंड में मंगलवार को संपन्न हुआ। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि 17 सितंबर को रानीखेत और चौबातिया में शुरू हुआ अभ्यास 'युद्ध अभ्यास' श्रृंखला का 10वां संस्करण था, जिसकी शुरुआत 2004 में अमेरिकन आर्मी पैसिफिक पार्टनरशिप कार्यक्रम के तहत हुई थी।
इसके तहत अमेरिकी सेना के साथ महासागर में भगीदारी कार्यक्रम के तहत दोनों सेनाओं के बीच सहयोग मजबूत करना है। मध्य कमांड के एक अधिकारी ने बताया, "अभ्यास की प्रक्रिया प्रगतिशील रूप से तैयार की गई थी, जहां भाग लेने वाले सैनिक पहले एक-दूसरे की संगठनात्मक संरचना, हथियार, उपकरण के माध्यम से अवगत हुए। इसके बाद 'ज्वाइंट टैक्टिकल एक्सरसाइज' अभ्यास हुआ, जहां दोनों देशों की सेनाओं ने युद्धाभ्यास किया।" रक्षा मंत्रालय की प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि पहाड़ी इलाके में विशेष अभ्‍यास से दोनों देशों के जवानों को आतंकवाद विरोधी और काउंटर आतंकवादी अभियानों पर अपने अनुभवों को साझा करने के लिए एक आदर्श मंच प्रदान किया है।
दोनों तरफ के कमांडरों और अधिकारियों ने घनिष्‍ठ समन्‍वय, संयुक्‍त प्रशिक्षण और खुफिया आदेशों का मिलकर जमीन स्‍तर पर पूरा किया। अभ्यास के अंतिम चरण का निरीक्षण अमेरिकी सेना मेजर जनरल लारेंस हॉस्किंस और भारतीय सेना के मेजर जनरल अश्विनी कुमार ने किया। हॉस्किंस ने प्रशिक्षण कार्यक्रम पर संतोष जाहिर किया और अपने समकक्षों के प्रयास की प्रशंसा की।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, युद्ध अभ्यास 2014 -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर
Next Story
Share it
Top