Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अभिनंदन की भारत वापसी: आतंकवाद के खिलाफ जारी रहेगी भारत की जंग, हाई अलर्ट पर तीनों सेनाएं

बीते तीन दिनों में सीमा पर भारत और पाकिस्तान के बीच बने हुए तनावपूर्ण हालात के बीच राजधानी में हाईप्रोफाइल बैठकों का दौर चला।

अभिनंदन की भारत वापसी: आतंकवाद के खिलाफ जारी रहेगी भारत की जंग, हाई अलर्ट पर तीनों सेनाएं

बीते तीन दिनों में सीमा पर भारत और पाकिस्तान के बीच बने हुए तनावपूर्ण हालात के बीच राजधानी में हाईप्रोफाइल बैठकों का दौर चला। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा मामलों की समिति (सीसीएस) और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में सशस्त्र सेनाओं के प्रमुखों की अहम बैठक हुई।

जिसमें भारत ने कड़े शब्दों में पाकिस्तान को पुन: यह स्पष्ट कर दिया है कि वो आतंकवाद के सामने किसी भी कीमत पर घुटने नहीं टेकेगा और उसे बढ़ावा देने वाले तत्वों व आतंकी संगठनों (जैश-ए-मोहम्मद) के खिलाफ निबार्ध गति से अपनी आक्रामक कार्रवाई जारी रखेगा। अगर जरुरत पड़ी तो भारत जैश के आतंकी ठिकाने बालाकोट पर की गई हवाई कार्रवाई के सबूत भी पेश कर सकता है।

यहां गुरुवार को तीनों सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा पत्रकारों से बातचीत में दो-टूक शब्दों में कहा गया कि सेना, वायुसेना और नौसेना भविष्य में भी वर्तमान की तरह ही हाईअलर्ट पर रहेंगी और दुश्मन के किसी भी नापाक कार्रवाई का कड़ा पलटकार करेंगी।

शुक्रवार को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण जम्मू-कश्मीर का दौरा कर सकती हैं। जिसमें उनके साथ थलसेनाप्रमुख जनरल बिपिन रावत भी शामिल हो सकते हैं। रक्षा मंत्री को सूबे में तैनात सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा मौजूदा सुरक्षा हालात के बारे में जानकारी दी जाएगी।

निशाने पर रहेंगे आतंकी अड्डे

वायुसेना के अधिकारी एयर वाइस मार्शल आर.जी.के.कपूर ने कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान द्वारा लौटाए जाने के कदम का वायुसेना स्वागत करती है। लेकिन आतंकवाद को लेकर किसी को कोई छूट नहीं दी जाएगी और हम आतंकवाद रोधी अभियानों से लेकर आतंकी ठिकानों को निशाना बनाते रहेंगे।

उन्होंने भारत द्वारा एलओसी पर एफ-16 लड़ाकू विमान को गिराए जाने के तथ्य से पाक के मुकरने पर विमान में लगी हुई एम-रैम मिसाइल के टुकड़े को बड़े अहम सबूत के रूप में पेश किया। ये मिसाइल केवल एफ-16 विमान में ही प्रयोग की जाती है।

पाक बार-बार झूठ बोलता रहा कि उसने भारत के दो लड़ाकू विमान गिराए, 3 पायलट थे। लेकिन अंत में उसे सच स्वीकार करना पड़ा कि एक भारतीय पायलट ही उसके कब्जे में है।

निश्चिंत रहे देशवासी

सेना के अधिकारी मेजर जनरल सुरेंद्र सिंह महल ने कहा, भारत अपने ग्राउंड बेस्ड सिस्टम की मदद से लगातार हाईअलर्ट पर रहेगा। हम देशवासियों को यह भरोसा दिलाना चाहेंगे कि सेनाएं किसी भी आपात परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।

पाकिस्तान की तरफ से बीते दो दिनों में एलओसी पर सुंदरबनी, नौशेरा, कृष्णा घाटी सेक्टर में 35 बार संघर्षविराम समझौते का उल्लंधन कर भारतीय सेना के ठिकानों को निशाना बनाकर गोलीबारी की गई है।

जिसका सेना करारा जवाब दे रही है। एलओसी से लेकर आईबी तक हम पूरी तरह से मुस्तैदी के साथ तैनात हैं। नौसैन्य अधिकारी रियर एडमिरल दलबीर सिंह गुजराल ने कहा कि नौसेना देश की समुद्री सीमाओं की सुरक्षा करने के लिए पूरी तरह से सक्षम है और किसी भी ओर से आने वाले दुश्मन के हमले का उचित जवाब देने के लिए हाईअलर्ट के साथ डटी हुई है।

Share it
Top