Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पाक में हो रहे एक और सम्मेलन से हटे भारत, बांग्लादेश और ईरान

अंतर्राष्‍ट्रीय मंच पर पाकिस्‍तान को अलग-थलग करने के मकसद से भारत ने यह फैसला किया है

पाक में हो रहे एक और सम्मेलन से हटे भारत, बांग्लादेश और ईरान
X
इस्‍लामाबाद. विकास के मुद्दे पर पाकिस्‍तान में होने वाले एक अहम सम्‍मेलन से भारत हट गया है। भारत के साथ-साथ ईरान और बांग्लादेश भी इसमें शिरकत नहीं कर रहे हैं। माना जा रहा है कि अंतर्राष्‍ट्रीय मंच पर पाकिस्‍तान को अलग-थलग करने के मकसद से भारत ने यह फैसला किया है। इससे पहले भी भारत ने पाकिस्‍तान में होने वाले सार्क सम्‍मेलन में हिस्‍सा नहीं लिया था। भारत के साथ कई और देश भी इसमें शरीक नहीं हुए थे जिसकी वजह से सार्क सम्‍मेलन को रद्द करना पड़ा था।

पाकिस्‍तान के अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तान के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधिकारियों ने शुरुआत में सम्मेलन में भारत की भागीदारी की पुष्टि की थी, लेकिन बाद में भारत की तरफ से इससे हटने की जानकारी दी गई। एशिया ऐंड पसिफिक सेंटर फॉर ट्रांसफर ऑफ टेक्‍नॉलजी की संचालक परिषद का तीन दिन का सत्र सोमवार से इस्लामाबाद में शुरू हो गया है। अधिकारी ने बताया, 'बैठक शुरू होने से कुछ घंटा पहले भारतीय शिष्टमंडल ने यह कहते हुए अपनी यात्रा रद्द कर दी कि उनके प्रमुख भोजन विषाक्तता के शिकार हो गए हैं।'

पाकिस्तान का विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय एशिया ऐंड पसिफिक सेंटर फॉर ट्रांसफर ऑफ टेक्‍नॉलजी की 12वीं संचालक परिषद की बैठक की मेजबानी कर रहा है। सूत्रों के अनुसार, सेंटर के सभी 14 सदस्य देशों को आमंत्रित किया गया था, लेकिन भारत, बांग्लादेश और ईरान ने बैठक में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया। संचालक परिषद की बैठक साल में एक बार होती है।

बैठक में जो देश हिस्सा ले रहे हैं, उनमें चीन, फिजी, इंडोनेशिया, मलयेशिया, पाकिस्तान, फिलीपीन्‍स, समोआ, दक्षिण कोरिया, श्रीलंका, थाईलैंड और वियतनाम शामिल हैं। इस बैठक में 2017 में ली जाने वाली परियोजनाओं को मंजूरी दी जाएगी। कुल पांच परियोजनाओं में भारत ने एक परियोजना दी थी जिसका शीर्षक 'फीड द फ्यूचर इंडिया' है। यह परियोजना 15 लाख डॉलर के यूएसएआईडी के वित्तपोषण के भारत में एक कृषिगत नवोन्मेष उत्प्रेरक मंच की स्थापना के मार्फत निम्‍न विकसित देशों में खाद्य सुरक्षा बढ़ाने पर लक्षित है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story