Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाकिस्तान को भारतीय सेना का मुंहतोड़ जवाब, जानें अब तक कितने आतंकियों को किया ढेर

पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज आता नहीं दिख रहा है आज एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन करते हुये पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर के अरनिया और आरएसपुरा सेक्टर में गोलीबारी कर दी।

पाकिस्तान को भारतीय सेना का मुंहतोड़ जवाब, जानें अब तक कितने आतंकियों को किया ढेर

पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज आता नहीं दिख रहा है आज एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन करते हुये पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर के अरनिया और आरएसपुरा सेक्टर में गोलीबारी कर दी। जिसमें दो भारतीय नागरिकों की मौत हो गई और 4 से अधिक लोग घायल हो गये हैं।

आपको बता दें किपाकिस्तान की ओर से पिछले 24 घंटों मे की गई यह दूसरी गोलीबारी है। अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर होने वाली साल की यह तीसरी बड़ी घटना है।

यह भी पढ़ें- पाकिस्तानी पीएम ने आतंकी हाफिज को कहा 'सर', अमेरिका बोला- 26/11 के 'मास्टरमाइंड' पर मुकदमा चलाए सरकार

बीएसएफ के जवानों का कहना है कि भारत की 30-40 पोस्टों को पाकिस्तान लगातार टारगेट बना रहा है। साथ ही भारतीय आम नागरिकों पर हमला कर रहा है। पाकिस्तान की ओर कल भी गोलीबारी की गई थी जिसमें तीन आम नागरिकों की मौत हुई थी।

हालांकि भारतीय सेना भी जवाबी कार्रवाही में लगी हुई है और पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे रही है। तीन दिन पहले ही भारतीय सेना ने पाकिस्तान के सात जवानों को मार गिराया था। जिसके बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और लगातार सीमा से लगे इलाकों में फायरिंग कर रहा है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना ने पिछले साल यानि साल 2017 में 200 आतंकियों को मार गिराया था और ‘गोल्डन ईयर’ बना लिया था। अगर बीते 6 सालों के आंकड़ों पर गौर करें तो इतनी बड़ी संख्या में इससे पहले कभी भी आतंकियों को नहीं मारा गया था।

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान में उठी 'शहीद भगत सिंह' को सर्वोच्च सम्मान देने की मांग, जानिए क्या है 'निशान-ए-हैदर'

वहीं अगर आंकड़ों के हिसाब से वर्ष 2011 से 2017 तक सुरक्षाबलों ने कुल 575 आतंकियों को मार गिराया था। इनमें सबसे ज्यादा 200 आतंकियों का पिछले वर्ष 2017 में सफाया किया गया था।

इसके अलावा साल 2011 में यह संख्या 95, 2012 में 73, 2013 में 65, 2014 में 104, 2015 में 97 और 2016 में 141 आतंकवादी ढेर किए जा चुके हैं।

रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि अगर इसी तर्ज पर कश्मीर घाटी में सैन्य अभियान चलते रहे तो अगले साल 2018 में भी पाक समर्थित यह तमाम दहशतगर्द सूबे की शांति भंग नहीं कर सकेंगे।

Next Story
Share it
Top