Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाक के परमाणु प्रयोग की गीदड़भपकी से नहीं डरता भारत: विशेषज्ञ

पाक को सबक सिखाना जरूरी, समूचा विश्व एकजुट होकर पाक की कसे नकेल

पाक के परमाणु प्रयोग की गीदड़भपकी से नहीं डरता भारत: विशेषज्ञ
नई दिल्ली. बीते 15 अगस्त को लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बलूचिस्तान में पाकिस्तान की कारगुजारियों को दुनिया के सामने लाने के बाद से अंतर्राष्ट्रीय मंच पर मुंह छिपाते फिर रहे पाकिस्तान की कोशिश अब केवल कश्मीर में दहशत की चिंगारी भड़काकर घाटी समेत भारत के अमनचैन को तबाह करने की है। पहले पठानकोट और अब उरी में हुआ आतंकी हमला इसकी ताजा मिसाल है। हमले में चार आतंकी मारे गए और सेना के 17 जवान शहीद हुए हैं। हमले पर रक्षा, सैन्य व विदेश मामलों के विशेषज्ञों का कहना है कि अब वक्त आ गया है कि पाकिस्तान पर भारत समेत सार्क और अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी के सभी देश प्रतिबंध लगाएं और उसे आतंकी राज्य घोषित किया जाए।
उरी हमले के बाद पाक के रक्षा मंत्री द्वारा परमाणु हमले की धमकी से भारत को डरने की जरूरत नहीं है। क्योंकि जैसे ही पाक द्वारा मानवजाति के इन विनाशक हथियारों को प्रयोग करने की हिमाकत से पहले ही भारत के सेटेलाइट उसे पकड़कर उसका मुंह बंद कर देंगे।
पाक घोषित हो आतंकी स्टेट
रक्षा विशेषज्ञ व पूर्व उपसेनाप्रमुख रहे लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत) राज कादयान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शब्दों को एक्शन में तब्दील करने का वक्त आ गया है। हमला पाक की सेना व सरकार की मिलीभगत से हुआ है। भारत संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में पाकिस्तान को आतंकी स्टेट घोषित करवाए और उसपर सलेक्टिव प्रतिबंध लगाए जाने चाहिए। इससे उसकी अर्थव्यस्था प्रभावित होगी और वहां से आतंक की फैक्ट्री चला रहे आतंकवादियों के नापाक मंसूबे भी टूटेंगे।
जैसे को तैसा हो जवाब
सैन्य मामलों के विशेषज्ञ मेजर जनरल अफसर करीम (सेवानिवृत) ने उरी हमले का जवाब सीधे ऐसा ही हमला करके देने को कहा। पाक अधिकृत कश्मीर में मौजूद आतंकी कैंपों को नष्ट करने की दिशा में कदम बढ़ाना चाहिए। इसके लिए एक खास सैन्य टुकड़ी की मदद ली जा सकती है। जिन्हें कुछ दिनों तक विशेष प्रशिक्षण दिया जाए और फिर वो पाक को सबक सिखाए।
ईरान की तर्ज पर हो सख्ती
सैन्य व विदेश मामलों के जानकार विशेषज्ञ कमर आगा ने हरिभूमि से बातचीत में कहा कि उरी हमले के बाद यह साफ हो गया है कि पाक अपनी हरकतों से बाज आने वाला नहीं है। पीएम ने बदला लेने की बात कही है। लेकिन युद्ध किसी समस्या का समाधान नहीं है। इस बार पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए भारत व समूची दुनिया के देशों को एकजुट होकर ठीक उसी तर्ज पर कार्रवाई करनी होगी जैसे कुछ समय पहले ईरान के खिलाफ की गई थी। पाक प्रायोजित आंतकवाद से इस वक्त न केवल भारत परेशान है, बल्कि सार्क समुह के अन्य देश भी तेजी से इसकी चपेट में आ रहे हैं। बांग्लादेश में इसकी खुली आवाज सुनायी पड़ने लगी है। साथ ही सेंट्रल एशिया में भी पाक लोकतंत्र विरोधी ताकतों को मदद व प्रशिक्षण देने के काम में लगा हुआ है।
आगा ने कहा कि पाक की कोशिश संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा के मौजूदा सत्र में कश्मीर की जंग-ए-आजादी के मुद्दे को जोरशोर से उठाने की है। विदेश मंत्री भी वहां होंगी और इस हमले का जिक्र करेंगी। लेकिन इस बार भारत को विश्व बिरादरी से सहयोग लेकर पाक पर प्रतिबंध लगाने की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए। दुनिया के तमाम देशों में भारत को विशेष दूत भेजकर अपने पक्ष में माहौल बनाना चाहिए। परमाणु हथियार पाकिस्तान भारत से पहले प्रयोग नहीं कर सकता। अगर करेगा तो उसे हमारे सेटेलाइट पकड़ लेंगे और उसकी इस गीदड़भपकी की हवा निकाल देंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top