Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नेपाल सीमा पर खपाए जा रहे हैं भारी मात्रा में 500 और 1000 के नोट

भारतीय व नेपाली करंसी के एक्सचेंज पर रोक लगा दी गई है

नेपाल सीमा पर खपाए जा रहे हैं भारी मात्रा में 500 और 1000 के नोट
नई दिल्ली. भारत में 500 तथा 1000 के नोट बंद होने के बाद से पुराने नोटों को बदलने वाले लोग भी सक्रिय हो गए हैं। पुलिस के अनुसार भारत नेपाल सीमा पर 1000 और 500 के पुराने नोट खपाने के लिए एक पूरा गिरोह बाकायदा तरीके से काम कर रहा है। इसके लिए एजेंटों को भी काम में लगाया गया है।
मीडिया रिपोर्टस के अनुसार भारत नेपाल सीमा पर बैंकों में नोट जमा किए जा रहे हैं और बदले जा रहे हैं। इस काम में लगे एजेंट अपने रिश्तेदारों के खातों तथा उनकी पहचान का उपाय कर बैन हो चुकी करंसी को नई करंसी में बदल रहे हैं। आंकड़ों के अनुसार पिछले आठ दिनों में यहां लगभग साढ़े तीन हजार करोड़ से ज्यादा पुराने नोट जमा हो चुके हैं। औसतन रोजाना 430 करोड़ रुपए के पुराने नोट जमा किए और बदले जा रहे हैं। ये सब सीतामढ़ी जैसे छोटे इलाकों में ज्यादा हो रहा है।
इसके अलावा सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले नेपाली नागरिक जिनके भारतीय बैंकों में खाते हैं, वो भी नोट बदलवा रहे हैं। ऐसे नागरिकों की संख्या लगभग डेढ़ लाख रुपए हैं, जिनके खातों में 50 हजार से लेकर ढाई लाख तक जमा करवाए जा रहे हैं। नोट बदलने में लगे सिंडीकेट की सक्रियता को देख नेपाल ने नोट एक्सचेंज सेंटर बंद कर दिया है। सीमा पर मौजूद बैंकों ने पुराने नोट बदलने बंद कर दिए हैं।
इसके साथ ही भारतीय व नेपाली करंसी के एक्सचेंज पर भी रोक लगा दी है। नेपाल ने वीरगंज के ऑथराइज्ड 17 नोट एक्सचेंज सेंटर बंद कर दिए हैं। सीमा स्थित अनऑथराइज्ड 10 एक्सचेंज सेंटर्स पर भी भारतीय व नेपाली नोट बदलने का काम बंद हो गया है। नई करंसी की कमी के चलते भी करंसी एक्सचेंज बंद कर दिया गया है।
गौरतलब है कि पीएम मोदी ने काले धन पर रोक लगाने के लिए 500 तथा 1000 के नोटों को पूरी तरह से बैन करने की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद से पूरे देश में लोग 500 तथा 1000 के नोटों को बैंक में जमा करवाने तथा नए नोट प्राप्त करने की जुगत में लगे हुए हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top