Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अफगानिस्तान को और हथियार देगा भारत, पाक को हुुई टेंशन

भारत में अफगानिस्तान के राजदूत ने कहा कि भारत सरकार ने पाकिस्तान की चिंताओं के बावजूद यह फैसला लिया है।

अफगानिस्तान को और हथियार देगा भारत, पाक को हुुई टेंशन
नई दिल्ली. भारत और अफगानिस्तान के बीच में आतंकवाद को लेकर आपसी दोस्ती बेहद मजबूत होती दिखाई पड़ रही है। इसी का नतीजा है कि भारत ने अफागानिस्तान को इस्लामिक आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई में मदद के लिए और अधिक हथियार मुहैया कराने का फैसला लिया है।
भारत में अफगानिस्तान के राजदूत ने कहा कि भारत सरकार ने पाकिस्तान की चिंताओं के बावजूद यह फैसला लिया है। पाकिस्तान अपने दोनों पड़ोसी देशों के बीच बढ़ते सैन्य संबंधों को लेकर चिंतित है। बीते 15 सालों में भारत ने अफगानिस्तान को करीब 2 अरब डॉलर की आर्थिक सहायता दी है। लेकिन, पाकिस्तान से किसी तरह के टकराव को टालने के लिए भारत अफगानिस्तान को हथियार मुहैया कराने से बचता रहा है।
अफगानिस्तान में कट्टरवादी तालिबानी सरकार के गिरने के बाद से पहली बार पिछले साल दिसंबर में भारत ने अफगानिस्तान को चार लड़ाकू हेलिकॉप्टरों की सप्लाइ करने का ऐलान किया था। यह पहला मौका था, जब भारत की ओर से अफगान को सामरिक मदद दी गई। अफगान सरकार ने तत्काल इनमें से तीन रूसी एमआई-25 हेलिकॉप्टरों को आतंकवादियों के खिलाफ जंग में उतार दिया। इसके अलावा चौथे हेलिकॉप्टर को भी अगले कुछ सप्ताहों में तैनात कर दिया जाएगा।
भारत में अफगानिस्तान के राजदूत शैदा मोहम्मद अब्दाली ने कहा कि क्षेत्रीय सुरक्षा की स्थिति बिगड़ रही है और अफगानिस्ती सुरक्षा बलों को तालिबान, इस्लामिक स्टेट और अन्य आतंकवादी संगठनों से निपटने के लिए हथियारों की सख्त जरूरत है। अब्दाली ने रॉयटर्स को दिए इंटरव्यू में कहा, 'चार हेलिकॉप्टरों के लिए हम धन्यावद देते हैं। लेकिन, हमें इससे ज्यादा की जरूरत है। आज हम ऐसी स्थिति की ओर बढ़ रहे हैं, जो भारत समेत सभी के लिए चिंता का सबब है।'
एक सैन्य अधिकारी ने बताया कि 29 अगस्त को अफगानिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कदम शाह शाहिम भारत आ सकते हैं। इस दौरान वह उन सैन्य उपकरणों की सूची सौंपेंगे, जिनकी उन्हें आवश्यकता है। हालांकि अब तक यह साफ नहीं है कि अफगानिस्तान को कितने उपकरण मुफ्त में मुहैया कराए जाएंगे और कितनों को बेच जाएगा। इन उपकरणों में एमआई-25 हेलिकॉप्टर, सैनिकों को लाने ले जाने के लिए छोटे हेलिकॉप्टर और चिकित्सकीय उपकरण शामिल हैं। अब्दाली ने कहा, 'आर्मी चीफ की यात्रा का अजेंडा पूरी तरह स्पष्ट है। हम अपने रक्षा संबंधों को बढ़ाने वाले हैं।' अब्दाली ने कहा कि भारत ने हमें भरोसा दिया है कि जो भी हमारे सुरक्षा बलों के लिए जरूरी होगा, उसे हम मुहैया कराएंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top