logo
Breaking

2018 के पहले छह महीनों में भारत में 22 अरब डॉलर का FDI आया: UN रिपोर्ट

भारत में 2018 के पहले 6 महीनों में 22 अरब डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) आया है। इस दौरान वैश्विक एफडीआई में 41 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

2018 के पहले छह महीनों में भारत में 22 अरब डॉलर का FDI आया: UN रिपोर्ट

भारत में 2018 के पहले 6 महीनों में 22 अरब डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) आया है। इस दौरान वैश्विक एफडीआई में 41 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी है।

संयुक्त राष्ट्र व्यापार एवं विकास सम्मेलन (अंकटाड) ने सोमवार को जारी 'इन्वेस्टमेंट ट्रेंड मॉनिटर' रिपोर्ट में कहा कि दक्षिण एशियाई देशों में भारत ने 2018 के पूर्वार्द्ध में 22 अरब डॉलर का एफडीआई आकर्षित किया।

इससे पूरे दक्षिण एशिया के एफडीआई में 13 प्रतिशत वृद्धि हुई। रिपोर्ट में कहा गया कि 22 अरब डॉलर के एफडीआई के साथ भारत ने किसी तरह शीर्ष 10 आकर्षक देशों की सूची में स्थान बरकरार रखा है।

इसे भी पढ़ें- बिहार: जेडीयू में नंबर दो बने प्रशांत किशोर, पिछले महीने पार्टी में हुए थे शामिल

जानिए किस देश को मिला कितना विदेशी निवेश-

पहला- 70 अरब डॉलर के एफडीआई के साथ चीन शीर्ष पर रहा।

दूसरा- 65.5 अरब डॉलर के साथ ब्रिटेन दूसरे नंबर पर।

तीसरा- 46.5 अरब डॉलर के साथ अमेरिका तीसरे नंबर पर।

चौथ- 44.8 अरब डॉलर के साथ नीदरलैंड चौथे नंबर पर।

पांचवा- 36.1 अरब डॉलर के साथ ऑस्ट्रेलिया पांचवें नंबर पर।

छठा- 34.7 अरब डॉलर के साथ सिंगापुर छठे नंबर पर।

सातवा- 25.5 अरब डॉलर के साथ ब्राजील सातवें स्थान पर रहा।

इसे भी पढ़ें- हरियाणा में रोडवेज कर्मी 700 निजी बसें लाने के सरकार के फैसले के खिलाफ दो दिन की हड़ताल पर

इस दौरान वैश्विक एफडीआई पिछले साल के 794 अरब डॉलर से 41 प्रतिशत गिरकर 470 अरब डॉलर पर आ गई है।

इसका कारण अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप की सरकार द्वारा किये गये कर सुधारों से अमेरिकी कंपनियों का एफडीआई बाधित हो जाना रहा है।

अंकटाड के निदेशक (डिविजन ऑन इन्वेस्टमेंट एंड एंटरप्राइज) जेम्स झान ने कहा कि कुल मिलाकर वैश्विक आर्थिक तस्वीर धुंधली है।

Loading...
Share it
Top