Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

INDEPENDENCE DAY: 21 अगस्‍त 1947 नेहरू ने अपने निजी सचिव जॉर्ज एबेल को बचाया, देर रात तक चली पार्टी

21 अगस्‍त के दिन गवर्नमेंट हाउस में शाम की पार्टी आयोजित हुई, जिसमें तीन हजार लोग आए।

INDEPENDENCE DAY: 21 अगस्‍त 1947  नेहरू ने अपने निजी सचिव जॉर्ज एबेल को बचाया, देर रात तक चली पार्टी

नई दिल्ली. INDEPENDENCE DAY COUNTDOWN सीरीज के तहत आज हम आपको बताएंगे कि आजादी के बाद 19 अगस्‍त 1947 के दिन को जानना हमारे लिए क्यों जरूरी है। अब तक आपने जाना कि 20 अगस्‍त 1947 को राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद ने असेंबली में मौजूद सांसदो से संकल्प लेने के लिए कहा और यह संकल्प अंग्रेजी और हिन्दुस्तानी भाषा में हुआ। जो लोग संकल्प नही करना चाहते थे राष्ट्रपति ने उन्हें खड़ा होने के आदेश दिया था।

इस दिन असेंबली में 15 अगस्त 1947 के दिन भारतीय झंडे फहराने के लिए हुई घटनाओं पर बात हुई, जिसमें आगरा, कानपुर, झांसी, जबलपुर की घटना मुख्य थी, क्योंकि उसमें ब्रिटिश सरकार के झंडे को हटाकर भारतीय झंडे को फहराया गया था। कुछ ब्रिटिश कमांडों इसका विरोध कर रहे थे। 20अगस्त 1947 को श्रीजुत गोपीनाथ बरदोलोई ,जे जे एम निकोलस-रॉय, प्रो.निबरन चंद्रा लस्कर, श्री ए. बी. लत्थे, चौधरी निहाल सिंह टक्सास ने प्रत्यक्ष पत्र पर हस्ताक्षर किये। श्रीजुत रोहिनी कुमार चौधरी ने 14 अगस्‍त को अनुपस्थित थे।

आज हम आपको बताएंगे कि 21 अगस्त 1947 को जवाहर लाल नेहरू ने अपने निजी सचिव जॉर्ज एबेल को भीड़ से बचाया। भीड़ ने एबेल को घेर रखा था। बाद में एबेल ने नेहरू के बारे में व्याखित किया कि नेहरू ने मुझे लोगों के भीड़ से कैसे बचाया। मैं भीड़ में फंसा हुआ था। घबराया हुआ था।नेहरू ने लोगो की भीड़ से बचाया। माउंटवेटन ने कहा की दिल्ली के कमांडर मेजर जनरल राजेन्द्र सिंह, नेहरू और मेंने भारतीय झंडा फहराने का निर्णय लिया था।

जब हमने झंडा फहराया तो देखा लोग आसमान में निकले इंद्रधनुष से ज्यादा तिरंगे झंडे को देख रहे थे। 21 अगस्‍त के दिन गवर्नमेंट हाउस में शाम की पार्टी आयोजित हुई, जिसमें तीन हजार लोग आए। यह पार्टी रात दो बजे तक की थी। इस डिनर और पार्टी में अम्बेसडर, नई केबिनेट मंत्री, सीनियर ब्रिटिश और भारतीय ऑफिसर और शासक राजा सब मिले-जुले थे। पहली पाकिस्तान जाने वाली ट्रेन शुरू हुई, जोकि दिल्ली से लाहौर तक चली। ट्रेन चलने से दोनो जगह से काफी लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर गये।

नीचे की स्लाइड्स में जानिय, पूरे देश में जारी था जश्‍न का माहौल -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top