Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
toggle-bar

सावधान! इस एक SMS से खाली हो सकता है आपका बैंक अकाउंट, ऐसे रहें सेफ

कुछ दिनों में कई टैक्सपेयर्स को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के जैसी ही ई-मेल आईडी से मेल मिले हैं। वहीं इनकम टैक्स रिफंड के SMS भी मिल रहे हैं।

सावधान! इस एक SMS से खाली हो सकता है आपका बैंक अकाउंट, ऐसे रहें सेफ
X

बैंकिंग से जुड़ी अब एक और खतरे की घंटी बजती दिख रही है। इनकम टैक्स के नाम पर लोगों को ठगा जा रहा है। जिसके कुछ मामले हमारे सामने आए हैं। इनकम टैक्स रिफंड के नाम पर लोगों को मेल मिल रहे हैं जिसके कई मामले सामने आए हैं।

पिछले कुछ दिनों में कई टैक्सपेयर्स को इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के जैसी ही ई-मेल आईडी से मेल मिले हैं। वहीं इनकम टैक्स रिफंड के SMS भी मिल रहे हैं। जिससे ग्राहक परेशान हैं। इसके कारण लोग ठगी के शिकार हो सकते हैं। इन सभी मेल में ग्राहकों से रिफंड अमाउंट वापस पाने के लिए नेट-बैंकिंग की जानकारी मांगी गई। जिसके कारण वह असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

इसलिए यह जानकारी होना आवश्यक है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट कभी भी इस तरह की कोई जानकारी नहीं मांगता है। तो जान लें कि ई-मेल के जरिए अगर आपकी बैंक डिटेल मांगी जा रही है तो आपको नुकसान हो सकता है। आपके अकाउंट से पर्सनल डिटेल्स निकालकर पैसा कहीं भी ट्रांसफर किया जा सकता है।

सावधानी के लिए क्या करें-

ऐसे अॉनलाइन ठगों से बचने के लिए इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर चेतावनियां से जागरूक रहें। टैक्सपेयर्स ई-मेल को सुरक्षित रखें और बगैरह जल्दबाजी किए उनकी सत्यता जांच लें। इन ई-मेल में कहा जा रहा है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को आपके बैंक खाते, डेबिट, क्रेडिट कार्ड की निजी जानकारियां चाहिए जबकि ऐसा असल में नहीं है।

इनकम टैक्स विभाग आपके अकाउंट की निजी जानकारी नहीं मांगलता है। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए आप 18001030025 पर फोन कर सकते हैं।

बैंकिंग के मामले में कभी भी संदिग्ध मेल, मैसेज या कॉल का जवाब न दें। ये फ्रॉड कॉल्स हो सकते हैं जो आपकी निजी जानकारी से बैंक अकाउंट में सेंध लगा सकते हैं। ऐसे किसी भी मेल मेल का जवाब नहीं दें और न ही बैंक अकाउंट या क्रेडिट कार्ड डीटेल्स शेयर करें।

असली और फर्जी मेल में अंतर-

आपके बता दें कि फर्जी मेल आईडी और सही सरकारी आईडी में काफी अंतर हैं। फर्जी मेल में सिर्फ फाइलिंग (filling) है, जबकि सही सरकारी मेल आईडी में फाइलिंग से पहले ई (efliling) है। फाइलिंग की स्पेलिंग में भी काफी फर्क है जैसे फर्जी मेल आईडी में (filling) में डबल एल (ll) है जबकि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की मेल आईडी में फाइलिंग (filing) की सही स्पेलिंग यानी सिंगल एल (l) के साथ है। इसलिए आप जागरूक रहकर फर्जीवाड़े से बच सकते हैं।

हम यहां आपको कुछ फर्जी मेल आई के नमूने दिखा रहे हैं जिनसे लोगों को मेल आ रहे हैं। आप भी इन मेल आई डी से सतर्क रहें।

फर्जी मेल आईडी- [email protected].

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की आईडी [email protected] है।

इसलिए इन ई-मेल को अपनी किसी भी तरह की बैंकिंग डिटेल नहीं दे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

और पढ़ें
Next Story