Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आयकर विभागः नये पेन कार्ड बनवाने के लिए ट्रांसजेंडर को अब नहीं देना होगा कोई लिंग प्रमाणपत्र

आयकर विभाग ने ट्रांसजेंडर श्रेणी के तहत पैन कार्ड के लिए नया आवेदन करते समय या मौजूदा कार्ड में किसी तरह के बदलाव के लिए लिंग संबंधी प्रमाणपत्र की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है।

आयकर विभागः नये पेन कार्ड बनवाने के लिए ट्रांसजेंडर को अब नहीं देना होगा कोई लिंग प्रमाणपत्र
X

आयकर विभाग ने आज कहा कि ट्रांसजेंडर श्रेणी के तहत पैन कार्ड के लिए नया आवेदन करते समय या मौजूदा कार्ड में किसी तरह के बदलाव के लिए लिंग संबंधी प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है।

विभाग ने 10 अप्रैल को आयकर नियमों में संशोधन कर ट्रांसजेंडर को उनके कर संबंधी लेन देन के लिए स्थायी खाता संख्या (पैन) हासिल करने के लिए आवेदकों की एक स्वतंत्र श्रेणी के तौर पर मान्यता दे दी।

अब तक पैन आवेदन फॉर्म में पुरूष एवं महिला लिंग श्रेणी ही उपलब्ध थे। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने इस संदर्भ में मिले अभ्यावेदनों को देखते हुए यह बदलाव किया क्योंकि ट्रांसजेडर को नया पैन हासिल करने में या अपने पुराने पैन कार्ड के जरिये लेन देन करने में दिक्कतें हो रही थीं।

ये भी पढ़ेःForbes List 2018: दुनिया के 10 सबसे ताकतवर लोगों में पीएम मोदी शुमार, जिनपिंग बने नंबर 1

विभाग ने एक परामर्श में आज कहा नये पैन के आवंटन और लिंग श्रेणी ट्रांसजेंडर डालने के लिए बदलाव के अनुरोध वाले आवेदनों को मंजूरी दे दी गयी।

साथ ही नेशनल सेक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (एनएसडीएल) या यूटीआई इन्फ्रास्ट्रक्चर टेक्नोलॉजी एंड सर्विसेज लिमिटेड (यूटीआईआईटीएसएल) पोर्टल के जरिये पैन में बदलाव के अनुरोध वाले आवेदन में लिंग श्रेणी में बदलाव कर ट्रांसजेंडर डालने की खातिर कोई प्रमाणपत्र देने की जरूरत नहीं है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को बताया कि ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को पैन कार्ड हासिल करने में दिक्कतें हो रही थीं और यह समस्या इस वजह से और बढ़ रही थी कि आधार में तीसरे लिंग की श्रेणी है लेकिन पैन में नहीं है। इसलिए ट्रांसजेंडर अपना पैन कार्ड अपने आधार से लिंक नहीं कर पा रहे थे। (इनपुट भाषा)

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story