Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानें आखिर 11 अगस्त को क्यों रखा गया इमरान खान का शपथ ग्रहण, ये है वजह

हाल ही में पाकिस्तान में हुए आम चुनावों में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के चीफ और पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं लेकिन बहुमत अभी भी नहीं है।

जानें आखिर 11 अगस्त को क्यों रखा गया इमरान खान का शपथ ग्रहण, ये है वजह
X

हाल ही में पाकिस्तान में हुए आम चुनावों में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के चीफ और पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं लेकिन बहुमत अभी भी नहीं है।

ऐसे में घोषणा हो चुकी है कि 11 अगस्त को इमरान खान का प्रधानमंत्री पद के लिए शपथ ग्रहण होगा। इस बीच खबर आई है कि इमरान का शपथ ग्रहण 11 अगस्त को ही क्यों रखा गया है। इसको लेकर कयास लगाए जा रहे हैं कि मोहम्मद अली जिन्ना ने 11 अगस्त 1947 को पहली बार भाषण दिया था। जो शपथ ग्रहण का एक कारण हो सकता है।

ये भी पढ़ें - काबुल: आतंकियों ने 3 लोगों को अगवा कर की हत्या, भारतीय युवक शामिल

वहीं खबर है कि इमरान खान अपने शपथ ग्रहण समारोह में सार्क देशों के प्रमुखों को बुलाएंगे। तो वहीं खबर है कि उनके शपथ ग्रहण में कोई विदेशी महमान शामिल नहीं होगा।

बता दें कि जिन्ना ने 11 अगस्त 1947 को कराची में पाकिस्तान की पहली विधानसभा में किया गया पहला संबोधन था। जिसमें जिन्ना ने कहा था कि आप स्वतंत्र हैं।

उन्होंने अपने भाषण में आगे कहा कि आप स्वतंत्र हैं अपने मंदिरों में जाने के लिए। आप स्वतंत्र हैं अपनी मस्जिदों में जाने के लिए और पाकिस्तान राज्य में अपनी किसी भी इबादतगाह में जाने के लिए। आपके संबंध किसी भी धर्म, जाति या नस्ल से हों, राज्य को इससे कोई लेना देना नहीं है। इस भाषण के साथ ही नए पाकिस्तान की इबारत लिखी गई।

ये भी पढ़ें - मराठा आरक्षणः बैठक के बाद समर्थन में उतरे CM फडणवीस, कही ये बड़ी बात

बता दें कि पाकिस्तान की 342 सीटों वाली नेशनल एसेम्बली में 272 सीट पर डायरेक्ट चुनाव होता है। किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए 172 सीटें चाहिए होती हैं। लेकिन पीटीआई के पास 116 सीटें हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story