Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आइआइटी बॉम्बे ने 9 स्टार्टअप कंपनियों पर लगाई पाबंदी

कंपनियों पर संस्थान के छात्रों को वादे के मुताबिक नौकरी नहीं देने या इसमें देरी करने का आरोप है।

आइआइटी बॉम्बे ने 9 स्टार्टअप कंपनियों पर लगाई पाबंदी
X
मुंबई. आइआइटी बॉम्बे ने 9 कंपनियों को काली सूची में डाल दिया है। एक साल तक इनके कैंपस भर्ती में शामिल होने पर पाबंदी लगा दी है। जिन्होंने उनके स्टूडेंट्स को प्लेसमेंट में जॉब ऑफर तो दिए लेकिन वादा पूरा करने में सफल नहीं रहीं। ऑल आइआइटी प्लेसमेंट कमिटी (एआइपीसी) ने 14 अगस्त को यह कार्रवाई की, लेकिन इसका खुलासा गुरुवार को किया गया।
कंपनियों में "जीपीएसके", "जॉनसन इलेक्ट्रिक ऑफ चाइना", "पोर्सिया मेडिकल", "पेपरटैप एंड कैशकेयर टेक्नोलॉजीज" शामिल हैं। प्रवक्ता ने कहा है कि यह अंतिम सूची नहीं है।
हिंदुस्तान टाइम्स के अनुसार, एआइपीसी के संयोजक प्रो. कौस्तुभा मोहंती ने कहा, यह फैसला देश के 23 आइआइटी छात्रों के हित में लिया गया है। कैंपस भर्ती में शामिल होने वाली कंपनियों से उनके धन के स्रोत, खातों का ब्योरा, बैलेंस शीट और कर्मचारियों की संख्या जैसे विवरण लिए जाएंगे।
अधिकांश स्टार्टअप कंपनियां
आइआइटी बॉम्बे ने गुरुवार को विज्ञप्ति जारी कर नौ कंपनियों के नाम बताए। इनमें अधिकतर स्टार्टअप कंपनियां हैं। इनमें दिल्ली-एनसीआर की कंपनी पेपरटैप भी शामिल है।
इसलिए हुई कार्रवाई
कंपनियों पर संस्थान के छात्रों को वादे के मुताबिक नौकरी नहीं देने या इसमें देरी करने का आरोप है। कई बड़ी स्टार्टअप कंपनियों पर ऑफर लेटर देने के बाद भी नौकरी नहीं देने जैसे आरोप हैं। इससे आइआइटी बॉम्बे के छात्र प्रभावित हुए है। काली सूची में डाली गई कंपनियों को एक साल बाद कड़ी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top