Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाकिस्तान से लौटे कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू, दोनों देशों ने ऐतिहासिक फैसला लिया

पहले केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी आए तो उसके बाद कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भी वापस लौट आए हैं।

पाकिस्तान से लौटे कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू, दोनों देशों ने ऐतिहासिक फैसला लिया
पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने गई भारतीय नेता अब वापस आ चुके हैं। पहले केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी आए तो उसके बाद कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू भी वापस लौट आए हैं।
पाक से लौटे ही बाघा बॉर्डर पर सिद्धू ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि ये दोनों देशों के बीच का ऐतिहासिक फैसला है। दोनों देशों के बीच दुश्मनी खत्म होनी चाहिए। वहीं उन्होंने प्रेस वार्ता के दौरान खालिस्तान समर्थक के साथ फोटो शेयर होने पर भी जवाब दिया।
इस दौरान सिद्धू ने कहा कि वहां मेरे साथ पांच से 10 हजार फोटो खिचवाई गई। मैं नहीं जानता कि कौन है गोपाल चावला। पाकिस्तान में खालिस्तान समर्थक गोपाल चावला के साथ पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू की तस्वीर को लेकर विवाद हो रहा है। जिसको लेकर बादल परिवार भी सिद्धू को पाक एजेंट बता चुका है।

मंच बना सियासी अखाड़ा

शिलान्यास का ये मंच राजनीतिक बयानबाजी का अखाड़ा बनकर रह गया। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस अवसर पर पाकिस्तानी सेना प्रमुख पर जमकर हमला बोला, तो केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान का शुक्रिया अदा किया।

हरसिमरत के पाक जाने को बनाया निशाना

दरअसल, पाकिस्तान 28 नवंबर को अपने क्षेत्र में इस कॉरिडोर की नींव रखेगा। इस मौके पर पाक की ओर से सुषमा स्वराज, कैप्टन अमरिंदर को न्योता दिया गया है। दोनों ने वहां नहीं जा रहे हैं। भारत सरकार की ओर से हरसिमरत कौर पाकिस्तान जाएंगी। इसी मुद्दे पर इशारों-इशारों में कैप्टन अमरिंदर ने उन्हें निशाने पर लिया।

इशारों में दिया सिद्धू को संदेश

पंजाब सीएम अमरिंदर सिंह ने जिस तरह सार्वजनिक मंच से पाकिस्तान के न्योते को ठुकराया है। इससे साफ है कि उन्हें ना सिर्फ पाकिस्तान को बल्कि अपने विरोधियों को भी सख्त संदेश देने का काम किया है। ऐसा माना जा रहा है कि कैप्टन अमरिंदर ने सिद्धू को संदेश दिया कि उनकी सरकार का मुखिया ही जब कार्यक्रम का बहिष्कार कर रहा है तो वह भी सोचकर ही फैसला लें।

ड्यूटी की वजह से नहीं जाऊंगा

शिलान्यास कार्यक्रम में कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि बतौर सिख मैं इस कार्यक्रम में पाकिस्तान जाना चाहता हूं, लेकिन क्योंकि मैं पंजाब का मुख्यमंत्री हूं इसलिए मेरी ड्यूटी ये कहती है कि मैं वहां नहीं जाऊं। पाकिस्तान लगातार हमारे जवानों-लोगों को मार रहा है, कुछ दिन पहले ही अमृतसर के एक गांव में ग्रेनेड फेंका गया। ऐसे में किस तरह पाकिस्तान चला जाऊं।

हरसिमरत ने किया इमरान का शुक्रिया

शिलान्यास से पहले कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने कहा कि आज देश में ऐसी सरकार है जिसकी बनाई हुई एसआईटी के कारण 1984 सिखों के दंगों के आरोपियों को सजा मिली। वो दिन दूर नहीं जब सभी आरोपियों को सजा होगी। उन्होंने कहा कि 70 साल में देश में कई प्रधानमंत्री आए और गए लेकिन मोदी जी के आने के बाद ही ये कॉरिडोर बनाने का फैसला किया।

चार महीने में बनेगा कॉरिडोर

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हम करतारपुर कॉरिडोर को चार लेन के तहत बनाएंगे, हम इस काम को 4-5 महीने में ही पूरा कर देंगे। उन्होंने कहा कि इस कॉरिडोर के बनने से पंजाब के टूरिज्म को काफी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि पंजाब की सरकार हमारे काम में लगातार सहयोग कर रही है।
Loading...
Share it
Top