Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

एंबुलेंस नहीं मिली तो 80 किलोमीटर ढोयी पत्नी की लाश

46 वर्षीय महिला की बीते शुक्रवार को एक स्थानीय अस्पताल में मौत हो गयी थी।

एंबुलेंस नहीं मिली तो 80 किलोमीटर ढोयी पत्नी की लाश
नई दिल्ली. ओडिशा के दाना मांझी की वो तस्वीर किसे याद नहीं होगी जिसमें वो हॉस्पिटल से एंबुलेंस न मिलने के चलते बीवी की लाश कंधे पर ढोकर ले जा रहे थे। इस एक तस्वीर ने देश भर में हंगामा खड़ा कर दिया था। अब इससे भी एक शर्मनाक तस्वीर तेलंगाना के हैदराबाद से सामने आई है। यहां लेप्रोसी से ग्रसित 53 साल के रामुलु एकेड को अपनी पत्नी की लाश को 80 किलोमीटर तक इसलिए घसीट कर ले जाना पड़ा क्योंकि हॉस्पिटल ने उसे एंबुलेंस देने से मना कर दिया था और उसके पास गाड़ी किराए पर लेने के पैसे नहीं थे।
क्या है पूरा मामला
रामुलु एकेड वो इंसान हैं जो ये कहानी बताते हुए फूट-फूट कर रो पड़ते हैं। 53 साल के रामुलु को लेप्रोसी है और वो हैदराबाद के मंदिरों में भीख मांग कर अपना गुजारा करते हैं। उनकी पत्नी 46 साल की कविथा को भी लेप्रोसी थी जिनकी बीते शुक्रवार को एक लोकल हॉस्पिटल में मौत हो गयी थी। रामुलु ने हॉस्पिटल से बीवी की लाश को अपने पैतृक गांव माईकोड ले जाने के लिए एंबुलेंस देने के लिए कहा।
सूत्रों के मुताबिक हॉस्पिटल वालों ने रामुलु से 5000 रुपए की मांग की। रामुलु के पास इतने पैसे नहीं थे इसलिए उसने उसी गत्ते के बिस्तर पर बीवी की लाश को घसीटकर घर तक ले जाने की ठानी। रामुलु ने चलना शुरू किया और वो करीब 24 घंटे लगातार चलने के बाद शनिवार शाम तक विकराबाद नाम की जगह तक पहुंच गए।
बस यहीं पहुंचकर रामुलु का हौसला टूट गया और उन्होंने बीवी की लाश के साथ सड़क के किनारे बैठकर रोना और लोगों से मदद मांगना शुरू कर दिया। इसके बाद पास के गांव के कुछ लोगों की नज़र रामुलु पर पड़ी और उन्होंने पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी। इसके बाद इलाके के ही एक वकील रमेश कुमार और पुलिस ने एंबुलेंस की व्यवस्था कर रामुलु की पत्नी लाश को घर तक पहुंचाया।
ओडिशा में भी सामने आया था ऐसा ही मामला
इससे पहले ओडिशा के कालाहांडी में सिर से शर्म से झुका देने वाला मामला सामने आया था। कालाहांडी के रहने वाले दाना मांझी को अस्पताल ने एंबुलेंस या मोर्चरी वैन देने से इनकार कर दिया जिसके बाद उसे अपनी बीवी की लाश को कंधे पर लादकर 10 किलोमीटर तक ले जाना पड़ा था। बता दें कि जब ये व्यक्ति लाश ले जा रहा था तब उसके साथ उसकी 12 साल की बेटी भी थी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top