Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अब 1 अक्टूबर से मृत्यु के पंजीकरण के लिए जरूरी होगा आधार

गृह मंत्रालय ने कहा कि अगर किसी की मौत होती है और उसका परिवार उसका डेथ सर्टिफिकेट चाहता है तो उसके लिए मरने वाले का आधार चाहिए होगा।

अब 1 अक्टूबर से मृत्यु के पंजीकरण के लिए जरूरी होगा आधार

देश में इन दिनों आधार को कई दस्तावेजों के साथ लिंक करने की योजना चल रही है। जहां सरकार ने आधार को बैंक खातों और पैन कार्ड सहित मोबाइल नंबर से लिंक करना जरुरी बताया है।

तो वहीं दूसरी तरफ खबर है कि अब एक अक्टूबर से देशभर में मृत्यु का पंजीकरण कराने के लिए आधार नंबर जरुरी हो जाएगा। सरकार की योजना है कि जल्द ही इसे लागू किया जाएगा।

बता दें कि अभी तक मृत्यु पंजीकरण के लिए आधार की जगह पर राशन कार्ड या वोटर आईडी कार्ड ही मांगा जाता है। लेकिन एक अक्टूबर से अब ऐसा नहीं होगा। अपको मरने वाले का मृत्यु पंजीकरण आधार से लिंक करवाना ही होगा।

इसके जरिए सरकार के पास एक ऑनलाइन रिकॉर्ड रहेगा कि कौन व्यक्ति जीवत है और काम मर गया है ताकि सरकार से जो सुविधाएं उसी मिल रही है वो बंद हो जाए।

बता दें कि हरियाणा में ऑनलाइन जन्म-मृत्यु पंजीकरण प्रणाली लागू की जा चुकी है। जिसे आधार कार्ड के साथ जोड़ा गया है। अब कोई भी व्यक्ति जन्म प्रमाण पत्र को भी जिले में ऑनलाइन प्राप्त कर सकता है।

लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए आधार देना जरूरी हो चुका है। बिना आधार के पासपोर्ट नहीं बन पाएगा। आयकर रिटर्न के लिए भी आधार कार्ड जरूरी कर दिया गया है। अब लोग आधार के बिना आयकर रिटर्न नहीं भर पाएंगे।

पीएफ खाते को आधार कार्ड से जोड़ना आवश्यक हो गया है। बता दें कि अब ज्यादातर चीजों के लिए आधार जरुरी हो गया है।

Next Story
Share it
Top