Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नाचने-गाने के जुर्म मे 5 लड़कियों को मिला मौत का फरमान

कोहिस्तान के कट्टरपंथी समाज में लड़के-लड़कियों को मिलने की इजाजत नहीं है।

नाचने-गाने के जुर्म मे 5 लड़कियों को मिला मौत का फरमान
X
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के एक छोटा से गांव कोहिस्तान में 5 लड़कियों को लड़को के साथ मिलकर नाचने के जुर्म में पंचायत ने मौत का फरमान सुना दिया गया। लड़के-लड़कियों के साथ मिलकर नाचने-गाने को कबीले की पंचायत ने पाप माना और उनकी मौत का फरमान जारी कर दिया गया।
पाक के कोहिस्तान गांव में 6 साल पहले एक शख्स ने मोबाइल में एक विडियो क्लिप बनाई थी। इस क्लिप 3 लड़कियां बहुत खुश दिख रही हैं। संगीत की ताल पर तालियां बजातीं और नाचतीं ये लड़कियां शायद किसी खास मौके के लिए तैयार हुई थीं। इसी क्लिप में उस कमरे के अंदर एक लड़का अकेला नाचता नजर आता है। वीडियो में नाच रही इन खुशनुमा लड़कियों का नाम बागीचा, सरीन जान, बेगम जान, अमिना और शाहीन था। जिन्हें नाचने-गाने के जुर्म में मौत की सजा दी गई है।
वायरल हुआ बर्बरता का वीडियो-
वॉशिंगटन पोस्ट की एक खबर के मुताबिक, इन लड़कियों के साथ हुई बर्बरता का यह वीडियो किसी को भी सिहराने के लिए काफी है। लड़के-लड़कियों के साथ मिलकर नाचने-गाने को कबीले की पंचायत ने पाप माना था और उन मासूमों को मौत का फरमान दिया गया। पाकिस्तान में हर साल 'ऑनर किलिंग' की हजारों वारदातें रिपोर्ट होती हैं। वहीं इस केस की जांच करने वाले लोगों ने बताया कि, कोर्ट फाइलिंग्स से पता चला कि इन लड़कियों के परिवार वालों ने कई हफ्ते तक उन्हें बंद रखा। उनपर उबलता पानी और जलते हुए कोयले फेंके गए। इतने क्रूर जुल्म करने के बाद आखिरकार इन पांचों लड़कियों की हत्या कर पहाड़ में कहीं दफना दिया गया।
किया गया लड़कियों के जिंदा होने का झूठा दावा-
बाद में जब यह मामला सामने आया, तो परिवार और रिश्तेदारों ने जांच अधिकारियों के आगे लड़कियों के जिंदा होने का झूठा दावा किया। अपने दावे को सही साबित करने के लिए इन परिवारों ने पांचों लड़कियों से मिलती-जुलती शक्ल वाली लड़कियों को भी पेश किया। ये लोग खुद को निर्दोष बताने के लिए इस हद तक चले गए बाद में पेश की गई लड़कियों में से एक के अंगूठे को ही बिगाड़ दिया।
खत्म नही होती पाक में ऑनर किलिंग-
यह केस बताता है कि आखिर क्यों पाकिस्तान में ऑनर किलिंग खत्म नहीं हो रही है। इस पूरे सिस्टम में कबीलों की स्थानीय अदालतें 'जिरगा' भी शामिल हैं। 26 साल के अफजल कोहिस्तानी ने इस केस के सच का पता करने के लिए खूब मेहनत की। विडियो में दिख रहा इकलौता लड़का अफजल का भाई था। विडियो में लड़कियों के साथ होने और नाचने-गाने के कारण उसके कई भाइयों की हत्या कर दी गई। वह एक साल तक स्थानीय और प्रांतीय अधिकारियों ने मदद की अपील करते रहे। उन्होंने 2 बार सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की। 2012 में उनकी याचिका रद्द कर दी गई, लेकिन पिछले महीने अचानक ही हाई कोर्ट ने इस मामले को दोबारा खुलवाया और इसकी जांच किए जाने का आदेश दिया। जांच में जो सच सामने आया, वह बेहद खौफनाक है।
कर दी गई लड़को की भी हत्या-
पिछले हफ्ते वॉशिंगटन पोस्ट को दिए गए एक इंटरव्यू में अफजल ने कहा, 'इस घटना ने मेरे परिवार को बर्बाद कर दिया। पांचों लड़कियां मर चुकी हैं। मेरे भाइयों की हत्या हो चुकी है। हमें बचाने या फिर हमें न्याय दिलाने के लिए कोई कोशिश नहीं की गई।' अफजल को उनकी कोशिशों के एवज में लगातार धमकियां मिलती रहीं। उनकी जान को खतरा था। इसी वजह से वह अपने घर भी नहीं जा सकते। वह कहते हैं, 'मैं जानता हूं कि शायद मेरी भी हत्या कर दी जाएगी, लेकिन मुझे फर्क नहीं पड़ता है। जो हुआ, वह गलत था और इस परंपरा को बदलना होगा।'
कट्टरपंथी समाज में लड़के-लड़कियों को बात करने की इजाजत नहीं-
कोहिस्तान जैसे कट्टरपंथी समाज में लड़के-लड़कियों को मिलने-जुलने की वैसे भी इजाजत नहीं है। ऐसे में साथ मिलकर नाचने-गाने और पार्टी करने की यह विडियो किसी ने इंटरनेट पर डाल दी। यह विडियो खूब शेयर हुआ और इन लड़के-लड़कियों के कबीले को जानकारी मिली। माना गया कि उन्होंने अपने कबीले का नाम खराब किया है। स्थानीय जिरगा पंचायत ने इन लड़के-लड़कियों को मारने का फैसला सुनाया गया था। पहले लड़कियों की हत्या की गई और उसके बाद विडियो में दिख रहे लड़के के कई भाइयों को भी पकड़कर काट डाला गया। उस लड़के के बाकी परिवार को अपना खेत और घर छोड़कर गांव से भागना पड़ा। अफजल की कोशिशों के बावजूद एक साल तक इस मामले की कोई रिपोर्ट भी नहीं हुई। कई प्रांतीय और स्थानीय अधिकारियों ने तो अफजल से यह तक कहा कि जिरगा के फैसलों को चुनौती देना शर्म की बात है।
अफजल अपने पूरे प्रांत में ऑनर किलिंग के खिलाफ आवाज उठाने वाला पहला शख्स है। इस मामले की जांच में कई संदेहास्पद जानकारियां सामने आईं हैं। इनके आधार पर केस के विस्तृत जांच का आदेश दिया गया। उम्मीद की जा रही है कि अब शायद पूरा सच सामने आएगा और दोषियों को सजा मिलेगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story