Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Holi Essay : स्कूल के लिए होली पर निबंध हिंदी में लिखना है तो ये है सबसे बेस्ट होली पर लेख

Holi Essay (होली पर निबंध) : 21 मार्च को होली का त्यौहार (Holi Festivel) मनाया जाएगा। अगर आपको स्कूल में होली पर निबंध (Holi Par Nibandh) लिखना है तो लेखिका अंतरा पटेल द्वारा होली का सबसे बेस्ट निबंध (Essay on Holi) हम आपके लिए लाये हैं और होली का निबंध हिंदी (Holi Essay In Hindi) में आपके लिए सबसे बेस्ट साबित होगा।

Holi Essay : स्कूल के लिए होली पर निबंध हिंदी में लिखना है तो ये है सबसे बेस्ट होली पर लेख

Holi Essay (होली पर निबंध) : 21 मार्च को होली का त्यौहार (Holi Festivel) मनाया जाएगा। अगर आपको स्कूल में होली पर निबंध (Holi Par Nibandh) लिखना है तो लेखिका मिशा शर्मा द्वारा होली का सबसे बेस्ट निबंध (Essay on Holi) हम आपके लिए लाये हैं और होली का निबंध हिंदी (Holi Essay In Hindi) में आपके लिए सबसे बेस्ट साबित होगा।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

रंग-तरंग जीवन में उमंग

होली के रंग जन-मानस में खुशियां और उल्लास बिखेरते हैं। मस्ती और प्रेम का यह पर्व हमें आपस में जोड़ता है, रिश्तों में प्रेम के गहरे रंग भरता है। होली परंपरा, उल्लास और खुशियों के मणि-कांचन संयोग का उत्सव है। आइए, हम इस रंगोत्सव में डूबें, नाचे-गाएं और जीवन को जीवंत-ऊर्जावान बनाएं। होली उमंगों, मस्ती, उत्साह और स्नेह से भरपूर त्योहार है। जीवन में ऊर्जा का संचार करने वाला रंगोत्सव राग और रंग का त्योहार है। राग का अर्थ है संगीत और रंग का अर्थ है जीवन में खुशियों के अनन्यतम पहलू। इस ऋतु में जीवन और प्रकृति दोनों ही अपने आकर्षक रूप में होते हैं, संपूर्ण सृष्टि उल्लास से परिपूर्ण होती है। होली पर मात्र रंग और गुलाल ही नहीं उड़ते बल्कि खुशियों की फुहारें भी छूटती हैं। होली की टोलियां मस्ती में झूमती हुई वातावरण में हर्षोल्लास घोलती हैं। फागोत्सव नाचने-गाने और धूम मचाने का त्योहार है।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

हमारी धर्म-संस्कृति का हिस्सा

रंगोत्सव हमारी भारतीय संस्कृति का सबसे खूबसूरत रंग है, जो हमारी जड़ों में जुड़ा है। इसका प्रमाण हमारी पौराणिक पुस्तकों और कथाओं में मिलता है। होली राधा-कृष्ण के प्रेम का प्रतीक है। राधा-माधव की अमर प्रेम कहानी इस त्योहार को अद्वितीय बना देती है। होली शिव-पार्वती के आलौकिक प्रेम को दर्शाती है। कामदेव को त्रिनेत्र से भस्म करने के पश्चात शिवजी ने पार्वती को पत्नी रूप में स्वीकार किया, माना जाता है कि होलिका दहन की आग्नि, वासना को जलाकर शुद्ध प्रेम का नवोन्मेष करती है। बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक पूतना वध की खुशी में भी होली मनाई जाती है। भक्त प्रह्लाद की कथा विश्वास और आस्था का मार्ग प्रदर्शित करती है। प्रह्लाद का अर्थ होता है आनंद, जो संदेश देता है- आनंद के साथ धर्मपथ पर चलते रहने का। नारद पुराण और भविष्य पुराण जैसे प्राचीन ग्रंथों में भी रंगोत्सव का उल्लेख मिलता है। ऐतिहासिक पुस्तकों और चित्रों में अकबर का जोधाबाई के साथ, जहांगीर का नूरजहां के साथ, बहादुर शाह जफर का अपने मंत्रियों के साथ होली खेलने का उल्लेख मिलता है।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

प्रकृति और प्रेम का पर्व है होली

होली प्रकृति और प्रेम का पर्व है, यह त्योहार रिश्तों को ही करीब नहीं लाता बल्कि हमें प्रकृति के करीब भी ले जाता है। होली और प्रकृति एक-दूसरे के हमजोली हैं। इस पर्व के आयोजन हेतु अलग-अलग फूलों और केसर से रंग बनाए जाते हैं, होलिका की अग्नि में गेहूं की बालियां, चने के होले भूने जाते हैं, गाय के गोबर से खिलौने बनाकर होलिका को अर्पित किए जाते हैं। भांग और गुलाब की पंखुड़ियों को मिलाकर ठंडाई बनाई जाती है, चंदन का लेप लगाया जाता है। ऋतुराज वसंत के रंग चारों ओर बिखरे होते हैं, रबी की फसल-गेहूं, जौ, चना, मसूर, सरसों अपने पूर्ण यौवन पर होती है। रंगोत्सव प्रकृति के साथ मिलकर मानव जीवन में हर्षोल्लास भर देता है।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

सद्भावना और एकता का त्योहार

होली सच्चे अर्थों में भारतीय संस्कृति का प्रतीक है, जिसके रंग अनेकता में एकता को दर्शाते हैं। होली जात-पात और ऊंच-नीच की भावना से विमुख, प्रेम, इंसानियत, भाईचारे और सद्भावना का त्योहार है। यह ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की भावना को जीवंत कर देने वाला पर्व है, जो विश्वपटल पर सभी को खुशियों, आत्मीयता, अभिन्नता और प्रेम का संदेश देता है। होली का रंग और उत्साह देश की सीमाएं लांघकर विदेशों तक पहुंचा है। दूर-दूर से विदेशी मेहमान हमारे देश में होली मनाने आते हैं। सभी को एक रंग में रंग देने वाला फागोत्सव सौहार्द का प्रतीक है, जिसमें लोग एक-दूसरे को प्रेम-स्नेह की गुलाल लगाते हैं, सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है, लोकगीत गाए जाते हैं, लोग गले मिलकर एक दूसरे का मुंह मीठा कराते हैं।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

क्षमा और नई शुरुआत का मुहूर्त

होली क्षमा और प्रेम का आनुषंगिक उत्सव है, जिसका मूल कंठ नहीं, हृदय है, जिसमें स्नेह की प्रधानता होती है। होली क्षमा और नई शुरुआत का सबसे अच्छा मुहूर्त होता है। रूठों की मनुहार करके उन्हें मनाने का सबसे अच्छा अवसर है रंगोत्सव। होली के स्नेह में भीगे रंगों से सारे क्लेश धुल जाते हैं। ये सारे गिले-शिकवे भुलाकर गले लगाने का पर्व है। कटुता, नाराजगी, शिकायतें छोड़कर एक-दूसरे के घर जाकर रंग लगाने और मन की कड़वाहट दूर करने का उत्सव है।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

चुहलबाजी का अवसर

होली नोक-झोंक और चुहलबाजी का भी पर्व है। यह वह अवसर होता है, जब रिश्तों में दोस्ती का रंग घुल जाता है। देवर-भाभी और जीजा-साली जैसे रिश्ते ही नहीं बल्कि बड़े और छोटे सब मिलकर होली के हुड़दंग में शामिल होते हैं। एक-दूसरे के साथ शरारत करते हैं। यह त्योहार सभी को प्रेम और मस्ती के रिश्ते में बांध देता है। परायों को अपना बना देता है। ‘बुरा ना मानो होली है’ की तर्ज पर सारी शरारतें और चुहलबाजियां माफ होती है। इस दिन सारे रिश्ते मित्रता में परिवर्तित हो जाते हैं।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

पहली होली होती है बेहद खास

प्रेमी-प्रेमिकाओं और नवविवाहित जोड़ों के लिए होली का त्योहार बेहद खास होता है। जिस अबीर-गुलाल से वे एक-दूसरे को रंगते हैं, उसमें उनके प्रेम का रंग मिला होता है। प्यार में डूबे साथी अपने प्रेम का इजहार होली में रंगों के माध्यम से करते हैं। होली, प्रेमियों के लिए रोमांस का पर्याय है। विवाह के बाद पहली होली का उत्साह विवाहित जोड़ों में चरम पर होता है, वे होली को एक-दूसरे के लिए बेहद खास और यादगार बनाना चाहते हैं। जीवन भर के लिए उसकी यादों को संजो लेना चाहते हैं। रंगोत्सव उनके प्रेम को गहरा और जीवन को खुशनुमा बना देता है।

Holi Essay In Hindi : होली पर निबंध हिंदी में

जीवन में रंगों का विशेष स्थान

होली के रंगों का जीवन में विशेष महत्व है। रंगोत्सव के रंग जीवन को सुंदर एवं सजीव बना देते हैं। हमारे देश में रंगोत्सव की परंपरा चिरकाल से है, जिसके रंगों की ही तरह अनेक नाम है इसे होली, रंगोत्सव, फागोत्सव, होलिका उत्सव, काम-महोत्सव, ईद-ए-गुलाबी, आब-ए-पाशी जैसे कई नामों से पुकारा जाता है। नाम कोई भी हो पर होली के त्योहार में भावना का एक ही रंग होता है, वो रंग है स्नेह, सौहार्द और भाईचारे का।

Loading...
Share it
Top