Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देश का दूसरा शौच मुक्त राज्य बना हिमाचल, पहला था ये

राज्य सरकार ने 6 महीने के अंदर ही हिमाचल को खुले में शौच से मुक्त राज्य करने का लक्ष्य रखा था।

देश का दूसरा शौच मुक्त राज्य बना हिमाचल, पहला था ये
X
शिमला. देश में स्वच्छ भारत नारे के बाद से कई राज्य स्वच्छता की और तेजी से काम कर रहे हैं। बता दें कि सिक्किम के बाद हिमाचल प्रदेश ऐसा राज्य बन गया है जो शौच मुक्त घोषित हो गया है। हिमाचल प्रदेश को खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया गया है। केंद्रीय ग्रामीण विकास व स्वच्छता मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा व सीएम वीरभद्र सिंह की मौजूदगी में प्रदेश ने ये तमगा हासिल किया। अभी तक देश में सिक्किम ही पूरी तरह शौच मुक्त राज्य था। हिमाचल नंबर दो बन गया है।
इंडिया टाइम्स के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश शुक्रवार (28 अक्टूबर) को खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) राज्य बन गया जो सिक्किम के बाद इस उपलब्धि को हासिल करने वाला दूसरा प्रदेश है। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि पर्वतीय राज्य हिमाचल पूरी तरह ओडीएफ बनने वाला पहला बड़ा राज्य हो गया है। उन्होंने ‘स्वच्छ भारत मिशन’ के लक्ष्य को हासिल करने के प्रयासों में सहयोग के लिए राज्य की जनता को बधाई दी।
तो वही दूसरी तरफ एक आधिकारिक बयान के अनुसार हिमाचल प्रदेश ने राज्य में शत प्रतिशत (100%) ग्रामीण स्वच्छता कवरेज के लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है जहां राज्य के सभी 12 जिले ओडीएफ घोषित किये गये हैं। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने यहां एक सार्वजनिक समारोह में यह घोषणा की जहां केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा और ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मौजूद थे।
ग्रामीण विकास एवम पंचायती राज सचिव ओंकार शर्मा ने बताया कि 31 मार्च 2017 तक खुले में शौच मुक्त राज्य हिमाचल को बनाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे सरकार के सहयोग के साथ ही जिला प्रशासन और स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रयास से 28 अक्टूबर को ही सिरे चढ़ा दिया गया। इसके लिए 28 सितंबर से 20 अक्टूबर तक विशेष अभियान चलाया गया। इस मौके पर सीएम वीरभद्र सिंह और नरेंद्र तोमर, जेपी नड्डा ने थुनाग के पंचायती राज प्रशिक्षण केंद्र का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से विधिवत शुभारम्भ किया। इसके बाद प्रदेश को बाह्य शौच मुक्त घोषित करने में विशेष सहयोग देने वालों को सम्मानित किया।
28 सितंबर से खुला शौच मुक्त और सुरक्षित पेयजल अभियान शुरू किया गया था। इसके बाद 10 से 20 अक्टूबर के बीच इस अभियान की वेरीफिकेशन की गई। वेरीफिकेशन के लिए ब्लॉक स्तर पर टीमों का गठन किया गया था। इसमें सरकारी अधिकारियों सहित एनजीओ व अन्य संबंधित संस्थाओं को शामिल किया गया था। हिमाचल प्रदेश में कुल 14,83,562 घरों में शौचालय हैं। बड़े राज्यों के हिसाब से बात की जाए तो हिमाचल ने केरल को भी पछाड़ दिया है। केरल के एक नवंबर को ओडीएफ घोषित किया जाएगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट
पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top