Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

दक्षिण भारत में 93 प्रतिशत लोग होते है डेंगू से प्रभावितः रिसर्च

दक्षिण भारत में मच्छर जनित विषाणु से होने वाली बीमारी डेंगू और चिकनगुनिया से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या अनुमान से कहीं ज्यादा है।

दक्षिण भारत में 93 प्रतिशत लोग होते है डेंगू से प्रभावितः रिसर्च

नई दिल्ली. दक्षिण भारत में मच्छर जनित विषाणु से होने वाली बीमारी डेंगू और चिकनगुनिया से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या अनुमान से कहीं ज्यादा है। भारतीय अध्ययनकर्ताओं ने अध्ययन में यह बात कही है। अध्ययनकर्ताओं ने 60 लाख से अधिक की आबादी वाले चेन्नई में 50 स्थानों पर 1,010 लोगों के खून के नमूने की जांच की और पाया कि पूर्व में उनमें से तकरीबन सभी लोगों पर डेंगू और 44 प्रतिशत पर चिकनगुनिया का खतरा रहा था। आश्चर्यजनक रूप से डेंगू के खतरे का सामना करने वाले किसी भी व्यक्ति में डेंगू होने की खबर नहीं है। इसका कारण या तो उनमें बीमारी की ठीक तरह से जांच नहीं करना है।

माकपा में सोमनाथ चटर्जी की वापसी पर सुगबुगाहट तेज, खास प्रक्रियाएं शुरू

अध्ययनकर्ताओं के अनुसार भारत में डेंगू के 1940 के दशक से मौजूद होने का पता चलता है, लेकिन पिछले कुछ सालों में ही इस बीमारी का प्रकोप बढ़ा है। अध्ययनकर्ता दल की प्रमुख और जॉन हॉपकिंस ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के डिपार्टमेंट ऑफ एपिडेमीआलजी की रिसर्च एसोसियेट इसाबेल रोड्रिग्स बराक्वेर ने कहा कि हमारे नतीजों से पता चलता है कि समस्या की हद को बहुत कम करके आंका गया है।

भारतीय मूल की हुमा के हाथों 'हिलेरी फोर अमेरिका' कैंपेन की बागडोर, मिलेगा सबसे मोटा पैकेज

उन्होंने कहा कि लोग बीमारी को लेकर जागरुक नहीं हैं। हमने जब प्रतिभागियों से पूछा कि क्या वे कभी भी डेंगू से पीड़ित रहे हैं तो केवल एक प्रतिशत ने हां में जवाब दिया जबकि असल 93 प्रतिशत लोग इससे संक्रमित रहे हैं। या उनमें इसका कोई लक्षण नहीं मिलना है।

TMC नेता ने रची महिला एसपी को मारने की साजिश, पानी में जहर मिलाकर पिलाने का था प्लान

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारी -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top