Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सिमी एनकाउंटर: शहीद हेड कॉन्सटेबल की बेटी की दिसंबर में थी शादी

सीएम शिवराज सिंह हेड कॉन्सटेबल के अंतिम संस्कार में शामिल हुए।

सिमी एनकाउंटर: शहीद हेड कॉन्सटेबल की बेटी की दिसंबर में थी शादी
नई दिल्ली. भोपाल सेन्ट्रल जेल में सिमी आतंकियों द्वारा मौत के घाट उतारे गए प्रधान आरक्षक रमाशंकर यादव का मंगलवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। एक तरफ जहां सिमी के आतंकियों के एनकाउटंर पर सियासत हो रही है तो वहीं दूसरी तरफ आतंकियों के हाथों शहीद हुए हेड कांस्टेबल रमाशंकर यादव के घर मातम छाया हुआ है। 9 दिसबंर को उनकी बेटी की शादी होने वाली थी जिसकी तैयारी में पूरा परिवार जुटा हुआ था। लेकिन अब पिता की मौत के बाद पूरा परिवार सदमे में है।
जनसत्ता के मुताबिक, हेड कॉन्स्टेबल रमाशंकर यादव को दिसंबर का बेसब्री से इंतजार था। अगले महीने उनकी छोटी बेटी की शादी होने वाली थी। लेकिन दिवाली से अगले ही दिन परिवार को सूचना मिली कि सिमी के 8 सदस्य यादव की हत्या करके जेल से फरार हो गए हैं। परिवार और रिश्तेदारों में दुख तो था ही साथ ही ये लोग जेल प्रशासन पर गुस्सा भी थे। उनका कहना है कि उम्रदराज और बीमार होने के बावजूद उन्हें जेल का इतना मुश्किल काम दिया हुआ था। बेटे प्रभुनाथ ने कहा कि कुछ साल पहले ही उनकी बाइपास सर्जरी हुई थी। हमने जेल प्रशासन से विनती की थी कि उन्हें कम मेहनत वाला काम दिया जाए और नाइट ड्यूटी ना लगाई जाए।
बता दें कि सिमी आतंकी जेल से तड़के 2 से 3 बजे के बीच हेड कांस्टेबल की हत्या कर भागे थे लेकिन एनकाउंटर भोपाल से 10 किलोमीटर दूर मालिखेड़ा में 11 बजे किया गया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शहीद को 10 लाख रुपए सम्मान राशि और बेटी की शादी के लिए 5 लाख की सहायता राशि देेने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने रमाशंकर यादव की रिहायशी कालोनी का नाम बदल कर शहीद के नाम पर करने की घोषणा की।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top